1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

चुग्गा डालने की आईसीसी की मंशा पर सवाल

खिलाडि़यों को पकड़ने लिए अपने जासूसों को बुकी के तौर पर भेजने की आईसीसी की मंशा पर ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर एसोसिएशन ने आपत्ति जताई है. उसकी राय में यह न तो समझदारी की बात है, और न ही वैधानिक.

default

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर एसोसिएशन(एसीए) के चीफ एक्जीक्युटिव पॉल मार्श ने कहा है कि इस योजना के बारे में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर एसोसिएशनों के फेडरेशन से कोई बातचीत नहीं की गई है. उन्होंने कहा कि एसीए या फेडरेशन के लिए अभी तक यह स्पष्ट नहीं है कि इसके तहत अवैध बुकियों द्वारा संपर्क किए जाने पर रिपोर्ट न करने वाले खिलाड़ियों को निशाना बनाया जाएगा, या सिर्फ उन खिलाड़ियों को पकड़ने की कोशिश की जाएगी जो मैच फिक्सिंग से जुड़े रहे हैं.

आईसीसी की योजना के अनुसार अवैध बुकी के रूप में खिलाड़ियों के पास जासूस भेजे जाएंगे और फिर देखा जाएगा कि ऐसे खिलाड़ी आईसीसी के निर्देश के मुताबिक इसकी रिपोर्ट भेजते हैं या नहीं. मार्श ने कहा कि वे जानकारी पाने की कोशिश कर रहे हैं कि आईसीसी की मंशा क्या है. अगर वे खिलाड़ियों द्वारा रिपोर्ट न किए जाने के बारे में पता लगाना चाहते हैं, पिर उन्हें सबसे पहले रिपोर्टिंग की गोपनीयता की व्यवस्था सुधारनी पड़ेगी. उन्होंने कहा कि इन सवालों के साथ खिलाड़ियों की सुरक्षा भी जुड़ी हुई है.

मार्श ने कहा कि गोपनीयता और विश्वास के अभाव के कारण बहुतेरे खिलाड़ी ऐसे संपर्कों के बारे में रिपोर्ट देने से कतराते हैं. उनकी राय में खिलाड़ियों के संगठनों द्वारा मैच फिक्सिंग की बुराइयों के बारे में खिलाड़ियों को प्रशिक्षित करना कहीं बेहतर होगा. इससे जिम्मेदारी की संस्कृति विकसित होगी.

रिपोर्ट: एजेंसियां/उभ

संपादन: आभा एम

DW.COM

WWW-Links