1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

चीन में वियतनामी दुल्हनें

अगर आप लड़की के घर वालों को दहेज में घर और गाड़ी दे सकते हैं तो आपके लिए शादी करना आसान हो सकता है. लेकिन गांव के गरीब युवक क्या करें? ये हालात चीन के हैं जहां लिंग असमानता के चलते दुल्हनें वियतनाम से लाई जा रही हैं.

चीन में लिंग असमानता बढ़ती जा रही है, खासकर एक संतान के कानून के चलते. ऐसे में शादी करना चुनौती बन गया है. गांव के युवकों को चीन के मुकाबले वियतनाम से सस्ते दाम में दुल्हन मिल जाती है. वियतनाम से 1700 किलोमीटर दूर चीन की हेनान पहाड़ियों के आसपास के गांव वैसे तो खुद ही गरीब हैं, लेकिन इनकी हालत वियतनाम से बेहतर है.

यह इलाका इन दिनों शादी के कारोबार के लिए सुर्खियों में है, कई बार अनैतिक तरीकों से होने वाली शादियों के लिए भी. कुछ वियतनामी महिलाएं इससे खुश भी हैं. उनके मुताबिक उनके जीवन में शादी के बाद सुधार हुआ है क्योंकि आर्थिक रूप से चीन में जीवन का स्तर बेहतर है.

शादी का कारोबार

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक सालों तक परिवारों द्वारा बेटे की इच्छा में कराए गए गर्भपात की वजह से आज प्रति 118 लड़कों पर मात्र 100 लड़कियां हैं. लड़कियों की कमी के कारण दुल्हन के दाम भी बढ़ते जा रहे हैं. शहरों के मर्द जहां भारी भरकम रकम आसानी से चुका देते हैं, गांव के मर्द पीछे रह जाते हैं. एक दुकानदार वांग यांगफांग ने बताया, "कई बार तो लड़की का परिवार घर और गाड़ी की मांग करता है." उनके मुताबिक वियतनाम में लड़की वालों की मांग इतनी ज्यादा नहीं है.

30 साल की हांग पिछले नवंबर शादी के बाद लिंची पहुंचीं. गांव की एक गुमटी में ग्राहकों को नूडल्स, कोला और सिगरेट बेचने में उन्हें भाषा को लेकर थोड़ी दिक्कत जरूर आती है लेकिन वह कहती हैं उनकी हालत पहले से बेहतर है. कंक्रीट की दीवार वाला कमरा और पास में ही मुर्गी के दड़बे से सटा टॉयलेट, ये सब उनके पुराने घर में नहीं था, "वियतनाम में हम बहुत खराब ईटों की दीवारों वाले मकान में रहते थे. हम किसान हैं इसलिए चावल के खेतों में बहुत मेहनत करनी पड़ती है."

उन्हें पता था कि इस शादी के लिए उनके माता पिता को पैसे मिले हैं, लेकिन उन्होंने इस बारे में पूछने की कभी हिम्मत नहीं की. वह आगे कहती हैं, "मेरी पड़ोसी ने मुझसे कहा कि मैं चीनी लड़के से शादी कर लूं, वे अपनी बीवी का बहुत ख्याल रखते हैं, मुझे बहुत काम नहीं करना पड़ेगा, जिंदगी अच्छी होगी." हांग के ससुर ल्यू शुआंगेन भी इस रिश्ते से खुश हैं. उन्होंने कहा, "वियतनामी महिलाएं हम लोगों जैसी ही होती हैं. वे किसी भी तरह का काम मेहनत से करती हैं. इस इलाके में बीवी ढूंढना आसान काम नहीं, यहां महिलाएं बहुत कम हैं."

तस्करी की चुनौती

लेकिन सभी मामलों में लड़कियां खुश नहीं हैं. इनमें से कई लड़कियों की शादी परिवार, रिश्तेदारों या ब्वायफ्रेंड ने धोखाधड़ी से बेचकर की है. 2011 में म्यांमार सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक ज्यादातर लड़कियों की तस्करी शादी के मकसद से की जा रही है. चीनी मीडिया के अनुसार 2012 में चीनी पुलिस ने ऐसी 1281 विदेशी महिलाओं को आजाद कराया. विशेषज्ञों का मानना है कि ग्रामीण इलाकों में ये मामले इतने ज्यादा हैं कि कानूनी कार्रवाई करना आसान नहीं. इन महिलाओं के पास भागने का कोई रास्ता नहीं होता. ये गांव चारों तरफ से पहाड़ों से घिरे हैं. एक स्थानीय ड्राइवर के मुताबिक चारों तरफ एक दूसरे के रिश्तेदार फैले हुए हैं. अगर कोई भाग जाए तो रिश्तेदार एक दूसरे से संपर्क करके उसे ढूंढ निकालते हैं.

एसएफ/एमजे (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री