1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

चीन में भी उड़ेंगे निजी विमान

चीन जल्द ही अपने आसमान को निजी विमानों के लिए खोलने की तैयारी में लगा है. अब तक कड़े सैन्य नियंत्रण के कारण वहां निजी विमानों के उड़ने पर मनाही थी. चीनी विमानन में इसे बड़ा कदम माना जा रहा है.

default

चीन ने अपने दक्षिणी द्वीप हाइनान पर चल रही एक प्रायोगिक परियोजना के तहत निजी हेलीकॉप्टरों को उड़ने की अनुमति दी है. इस के साथ चीन अपने नियंत्रित हवाई क्षेत्र को खोलने की शुरुआत कर रहा है. स्थानीय शिन्हुआ समाचार एजेंसी ने बताया कि प्रारंभिक दो महीने के प्रयोग में केवल चार हेलीकॉप्टर ही हिस्सा लेंगे जिन्हें आठ पायलट चलाएंगे.

चीन में हवाई क्षेत्र पर कड़ा सैन्य नियंत्रण है, जिसके चलते निजी और गैर वाणिज्यिक उड़ानों पर पर रोक है. अधिकारियों ने हाल ही में यह घोषणा की कि कम ऊंचाई वाले हवाई क्षेत्र में हेलीकॉप्टर और छोटे विमानों को उड़ने की इजाजत दी जाएगी. हाइनान क्षेत्र के उपराज्यपाल जिआंग सिशिआंग ने इस बात की पुष्टि की.

Anti-Terror Einsatz des US- Militärs vor der Küste Somalias

हाइनान चीन का पहला ऐसा क्षेत्र है जहां इस तरह का परीक्षण किया जा रहा है. हालांकि निजी विमानों का उड़ना अभी इतना आसान नहीं होगा. हर उड़ान के लिए पहले अधिकारियों से स्वीकृती लेनी होगी. पूरी प्रक्रिया में एक दिन से लेकर एक सप्ताह तक लग सकता है. जानकारों का मानना है कि इस कदम से चीन में निजी विमानन में तेजी से वृद्धि देखी जाएगी. चीन के रईस और विदेशी विमान निर्माता दोनों ही बेसब्री से चीन के आसमान के खुलने का इंतजार कर रहे हैं.

चीन की बढ़ती अर्थव्यवस्था के बावजूद उसके पास बहुत कम हेलीकॉप्टर हैं. दुनिया भर में 15,000 निजी जेट हैं जिसमें से 10,000 से अधिक से अमेरिका में हैं. चीन के पास कुल 150 से भी कम हेलीकॉप्टर हैं.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ईशा भाटिया

संपादन: एन रंजन

DW.COM