1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

चीन में कई बम धमाके

देश की सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी के सालाना सम्मेलन से ठीक पहले पार्टी के प्रांतीय मुख्यालय के बाहर सिलसिलेवार बम धमाके हुए. चीन ने धमाकों के लिए अलगाववादी संगठन को जिम्मेदार ठहराया.

चीन के उत्तरी प्रांत शान्शी के ताइयुआन शहर में बुधवार सुबह एक के बाद एक कई धमाके हुए. स्थानीय पुलिस ने सोशल मीडिया के जरिए जानकारी देते हुए कहा, "ताइयुआन में पार्टी की प्रांतीय आयोग के पास छोटे बमों से कई धमाके किए गए." प्रांतीय सरकार की वेबसाइट के मुताबिक धमाकों में एक व्यक्ति की मौत हुई है. एक गंभीर रूप से घायल है, जबकि सात को मामूली चोटें आई हैं.

चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक, "आठ धमाके सुने गए. पुलिस को घटनास्थल से बॉल बेयरिंग और बिजली की सर्किट की मदद से बनाए गए बम मिले हैं." धातु के नुकीले छर्रों या बॉल बेयरिंगों का इस्तेमाल बमों को ज्यादा घातक बनाने के लिए किया जाता है. विस्फोट के साथ ये आस पास बिखर जाते हैं, जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों को नुकसान पहुंच सकता है.

चीनी की मीडिया कंपनी काइक्षिन ने ब्लॉगरों के हवाले से कहा है, "चश्मदीदों के मुताबिक कुछ मिनटों के भीतर सात धमाके हुए और ये बहुत ताकतवर थे. बातचीत करने वाले कुछ लोगों ने कहा कि धमाकों का अहसास 100 मीटर दूर तक हुआ, जमीन कांप उठी." चीन में सबसे लोकप्रिय सोशल नेटवर्क वीबो में शेयर हो रही तस्वीरों में गाड़ियों के टूटे शीशे और पंचर पहिए दिखाई पड़ रहे हैं.

China Unfall auf dem Tiananmen Platz in Peking

थियानमन चौक पर हुआ हमला

सरकारी टेलीविजन सीसीटीवी के मुताबिक ये बम कम्युनिस्ट पार्टी के गेट के पास सजाए गए फूलदानों में रखे गए थे. धमाकों के बाद शान्शी के बड़े अधिकारियों और सुरक्षा एजेंसियों की आपात बैठक हो रही है.

बीते हफ्ते सोमवार को भी राजधानी बीजिंग के मशहूर पर्यटन स्थल और चीनी सरकार के मुख्यालय थियानमन चौक के पास एक कार में आग लग गई. हादसे में कार में सवार तीन लोग और दो पर्यटक मारे गए. इसके कुछ ही घंटों बाद चीन की पुलिस ने इसे आतंकवादी हमला करार दिया. घटना के बाद सुरक्षा अधिकारियों ने पश्चिमी प्रांत शिनजियान में छापेमारी शुरू कर दी. शिनजियान में उइगुर मुस्लिम रहते हैं. चीनी अधिकारियों के मुताबिक हमलावरों की कार से मिले सुरागों के आधार पर शिनजियान में जांच चल रही है.

बुधवार के धमाकों के लिए चीन के शीर्ष सुरक्षा अधिकारियों ने शिनजियान के अलगाववादी गुटों को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं. अधिकारियों के मुताबिक धमाके अलग पूर्वी तुर्केस्तान देश की मांग करने वालों ने किये हैं. शिनजियान में चल रहे इस अलगाववादी अभियान का नाम ईस्ट तुर्किस्तान मूवमेंट है. उइगुर मुसलमान मूल रूप से तुर्की के हैं, इसीलिए अलगाववादी संगठन अपने इलाके के तुर्किस्तान कहलाना पसंद करते हैं.

इसी हफ्ते के अंत में एक पार्टी शासन वाले चीन में सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी का सम्मेलन होना है. राजधानी बीजिंग में होने वाले सम्मेलन में चीन के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और पोलित ब्यूरो के नेता नई नीतियों पर चर्चा करेंगे. ताजा हमलों के बाद सम्मेलन में चीन की एकता पर भी चर्चा हो सकती है. अलगाववाद के मसले पर चीनी नेता हमेशा कड़ा रुख अपनाते आए हैं.

ओएसजे/एजेए (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री