1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

चीन के साथ रक्षा सहयोग रद्द रहेगा: कृष्णा

भारत ने चीन से संजीदा रवैए की अपेक्षा करते हुए दो टूक कहा है कि दोनों देशों के बीच फिलहाल रक्षा सहयोग रद्द ही रहेगा. भारत के विदेश मंत्री एसएम कृष्णा ने सख्त लहजे में यह बात कही है. ओबामा, मनमोहन भी चीन पर बातचीत करेंगे.

default

क्रोध में कृष्णा

कृष्णा ने कहा कि चीन को भारत में जम्मू कश्मीर और अरुणाचल प्रदेश जैसे संवेदनशील मामलों का सम्मान करना चाहिए और संजादगी का परिचय देना चाहिए. जिससे कि भारत के साथ उसके दोस्ताना रिश्तों को आगे बढ़ाया जा सके.

हालांकि कृष्णा ने स्पष्ट किया कि चीन संजीदा रवैया नहीं अपना रहा है इसलिए दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय रक्षा सहयोग फिलहाल स्थगित ही रहेंगे. चीन द्वारा हाल ही में जम्मू कश्मीर को भारत का आंतरिक हिस्सा होने पर सवाल उठाने पर कृष्णा ने आपत्ति दर्ज की है.

Symboldbild Barack Obama USA und China

चीन को चेतावनी

कृष्णा ने कहा कि चीन का यह अतिवादी रवैया और इससे एशिया की स्थिति पर पड़ने वाला प्रभाव अगले महीने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की भारत यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ होने वाली बातचीत का भी एक अहम मुद्दा रहेगा. उन्होंने उम्मीद जताई कि भारत के संवेदनशील मामलों में तटस्थता का परिचय देगा जैसा कि वह पहले करता था. उन्होंने कहा कि चीन को क्षेत्रीय संतुलन का ध्यान रखते हुए भारत के आंतरिक मामलों में संयम का परिचय देना चाहिए.

भारत और चीन के बीच पिछले एक साल में कई बार मतभेद हो चुके हैं. भारत बार बार इन्हें सामान्य बताता रहा, लेकिन यह पहला मौका है जब भारतीय विदेश मंत्री ने खुलकर स्वीकार किया है कि चीन नई दिल्ली को चिंता में डाल रहा है.

रिपोर्टः पीटीआई/निर्मल

संपादनः ओ सिंह

DW.COM

WWW-Links