1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

चीन के पास होगा अपना विकीपीडिया

विकीपीडिया को टक्कर देने के लिये चीन अब अपना फ्री इनसायक्लोपीडिया तैयार कर रहा है. लेकिन इस चीनी इनसायक्लोपीडिया में पाठकों के पास लिखने या उपलब्ध सामग्री में किसी भी तरह के बदलाव करने की इजाजत नहीं होगी.

माना जा रहा है कि इस नये इनसायक्लोपीडिया में संवेदनशील ऐतिहासिक घटनाओं का वही संस्करण पेश किया जायेगा जिसे चीन मानता है. बीजिंग की ओर से जिन विद्वानों और विशेषज्ञों को चुना गया है उनके मुताबिक वे नये इनसायक्लोपीडिया में महज एंट्री कर सकते हैं.

विज्ञान और तकनीकी इतिहास विभाग के संपादक चांग पाइछुन के मुताबिक किसी विषय पर अगर विचारों में अंतर पाया जाता है तो एक समिति उस पर विचार करेगी. उन्होंने कहा कि विज्ञान किसी लोकतांत्रिक तरीके से ईजाद नहीं होता इसके लिये आपको तथ्य पेश करने होते हैं इसलिए जोर तथ्यों पर रहेगा.

इस इनसायक्लोपीडिया में विज्ञान, साहित्य, राजनीति और इतिहास से जुड़ी 3 लाख प्रविष्टियों को संकलित करने का प्रयास कम्युनिस्ट पार्टी के केंद्रीय प्रचार विभाग के नेतृत्व में किया जा रहा है. ये विभाग चीन की मीडिया को दिशानिर्देश भी देता है, साथ ही इंटरनेट कंपनियों और प्रकाशन उद्योग के साथ साथ शिक्षा क्षेत्र की भी निगरानी करता है. विभाग ने इनसायक्लोपीडिया ऑफ चाइना पब्लिशिंग हाउस को इसे तैयार करने के निर्देश दिये हैं, जिसने इसके पहले ऑफलाइन चाइनीज इनसायक्लोपीडिया तैयार किया था.

आज के इंटरनेट युग में सत्ताधारी दल के लिये लोगों के विचारों का प्रबंधन करना मुश्किल हो रहा है, क्योंकि यहां जनता के पास समाचार या किसी घटना पर अपनी राय व्यक्त करने का मौका होता है. इसी के चलते चीन में विदेशी साइट मसलन फेसबुक और ट्विटर को नियमित रूप से ब्लॉक किया जाता रहा है और कई बार विकीपीडिया के अंग्रेजी और चीनी संस्करण को भी रोका गया है. आज भी यहां चीनी विकीपीडिया इस्तेमाल करने की इजाजत नहीं है.

इनसायक्लोपीडिया ऑफ चाइना पब्लिशिंग हाउस की जियांग लाइजुन ने बताया कि उनकी योजना राजनेताओं की जानकारी संकलित करने की है. साथ ही कम्युनिस्ट पार्टी का इतिहास, यूरोपीय यूनियन और वर्चुअल रिएलिटी से जुड़े विषय भी शामिल करना उनकी प्राथमिकता है. हालांकि उन्होंने राजनीतिक मामलों को शामिल करने जैसे मामलों पर कोई टिप्पणी नहीं की.

प्रकाशक कई यूनिवर्सिटीज और शोध संस्थानों के 20,000 से भी अधिक स्कॉलरों को चीनी इनसायक्लोपीडिया के लिए प्रविष्टियां लिखने के काम में लगा रहे हैं. वे इसे अगले साल तक ऑनलाइन पेश करना चाहते हैं. शुरु में यह केवल चीनी भाषा में होगा लेकिन इस बारे में भी रिसर्च चल रहा है कि भविष्य में इसे अंग्रेजी में भी लाना कैसे संभव होगा.

एए/आरपी (एपी)

DW.COM