1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

चीन की सुपर फास्ट रेलवे लाइन चालू

चीन ने मंगलवार को शंघाई और हांगझू के बीच सुपर फास्ट रेल लाइन चालू कर दी है. ये सीआरएच 380 ट्रेनें 420 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलेंगी जो विश्व का नया रिकॉर्ड है.

default

चीन के औद्योगिक शहर शंघाई को पूर्वी प्रदेश झेजियांग की राजधानी हांगझू से जोड़ने वाली 200 किलोमीटर की लाइन पर रेलगाड़ियों की औसत रफ्तार 350 किलोमीटर प्रति घंटे होगी. दोनों शहरों के बीच यात्रा में सिर्फ 45 मिनट लगेंगे. फिलहाल इसमें डेढ़ घंटे का समय लगता है.

चीन ने अब तक विश्व का सबसे लंबा सुपर फास्ट नेटवर्क बना लिया है. 2020 तक उसका इरादा 16,000 किलोमीटर सुपर फास्ट रेलवे लाइन बना लेने का है. चीनी इंजीनियर रेलगाड़ियों की गति बढ़ाने पर भी काम कर रहे हैं. भविष्य में रेलगाड़ियां 500 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलेंगी.

रेल मंत्रालय के प्रवक्ता वांग योंगपिंग ने कहा है कि शंघाई और हांगझू की लाइन पर चलने वाली सीआरएच ट्रेन की तकनीक, डिजाइन और उपकरण चीन में ही विकसित किए गए हैं. 250 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से ज्यादा हर चीज घरेलू तकनीकी वाली है. वांग ने कहा, "अब दूसरे देश हमारे साथ काम करना चाहते हैं." इसके विपरीत यूरोपीय रेल उद्योग संघ के मिषाएल क्लाउजेकर ने कहा है चीनी रेलगाड़ी में उपयुक्त टेकनॉलॉजी का बड़ा हिस्सा यूरोपीय तकनीकी पर आधारित है.

शंघाई और राजधानी बीजिंग को सुपर फास्ट रेलवे लाइन से जोड़ने की परियोजना पर काम चल रहा है जो 2012 से चालू हो जाएगा. 23 अरब यूरो की लागत से 1,318 किलोमीटर की रेललाइन बन जाने के बाद चीन के दो बड़े शहरों के बीच की दूरी पांच घंटे में पूरी की जा सकेगी.

रिपोर्ट: एजेंसियां/महेश झा

संपादन: ए कुमार

DW.COM

WWW-Links