1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

चीन की कंपनियां ईरान की मददगारः अमेरिका

अमेरिका मानता है कि चीन की कुछ कंपनियां ईरान के मिसाइल कार्यक्रम और परमाणु हथियार बनाने में मदद दे रही हैं. अमेरिका ने चीन से इन कंपनियों की हरकतों को रोकने के लिए कहा है.

default

अमेरिका के एक वरिष्ठ अधिकारी के हवाले से अमेरिकी अखबार वॉशिंगटन पोस्ट ने ये खबर छापी है. नाम न बताने की शर्त पर इस अधिकारी ने जानकारी दी कि पिछले महीने रॉबर्ट आइनहॉर्न के नेतृत्व में बीजिंग गई अमेरिकी अधिकारियों की टीम ने चीन के सामने ये मांग रखी. रॉबर्ट आइनहॉर्न अमेरिकी विदेश विभाग में विशेष सलाहकार हैं.

आइनहॉर्न ने चीनी विदेश विभाग के सलाहाकर को ऐसे कंपनियों और बैंकों के नाम की लिस्ट सौंपी है जो अमेरिका की नजर में संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंधों की अनदेखी कर ईरान की मदद कर रहे हैं. इन कंपनियों पर ये काम चीन की सरकार से इजाजत लिए बगैर करने का आरोप है.

NO FLASH Atomwaffen Waffen in falschen Händen Rakete Bombe Krieg Terror NO FLASH

मिसाइल और परमाणु कार्यक्रम को मदद

अमेरिकी खुफिया एजेंसियां मानती हैं कि प्रतिबंधों की परवाह किए बगैर कई चीनी कंपनियां तकनीकों और साजोसामान को ईरान तक पहुंचा रही हैं. ये सामान ईरान की सेना के लिए इस्तेमाल किए जा रहे हैं. इसके अलावा चीन के कुछ बैंक भी इस तरह के सौदों में भूमिका निभा रहे हैं. अखबार के मुताबिक ज्यादातर सौदे ईरान के परमाणु कार्यक्रम से जुड़े हैं.

एक वरिष्ठ खुफिया अधिकारी ने ये भी जानकारी दी है कि चीन की कंपनियों ने उच्च श्रेणी के फाइबर भी ईरान को बेचे हैं जिसे यूरेनियम संवर्धन के लिए जरूरी उपकरण, सेंट्रीफ्यूज बनाने में इस्तेमाल किया जा रहा है.

2008 में ईरान ने चीनी कंपनियों से 108 प्रेशर गेज खरीदे जो सेंट्रीफ्यूज बनाने में काम आने वाला जरूरी उपकरण है. इससे पहले चीन के डालियान शहर की एक छोटी कंपनी ने ईरान को परमाणु कार्यक्रम के लिए ग्रेफाइट, टंगस्टन कॉपर, टंगस्टन पाउडर, उच्च क्षमता वाले एल्युमिनियम मिश्रधातु, स्टील जैसी चीजों की सप्लाई दी थी. इस फर्म को एक अमेरिकी बैंक के जरिए पैसों का भुगतान किया गया. अमेरिका में चीनी दूतावास के प्रवक्ता वांग बाओडोंग ने कहा है "अमेरिका की तरफ से दी गई जानकारियों की हमारी सरकार जांच करेगी."

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः एमजी

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री