चीनी मीडिया ने दिखाई भारत की 7 ′गलतियां′ | दुनिया | DW | 17.08.2017
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

चीनी मीडिया ने दिखाई भारत की 7 'गलतियां'

चीन की सरकारी न्यूज एजेंसी शिन्हुआ ने एक वीडियो जारी कर डोकलम में भारत की 'गलतियां' बताई है. ट्विटर पर जारी इस वीडियो का नाम "सेवेन सिन्स" है जिसमें डोकलम विवाद पर भारतीय पक्ष को कटघरे में खड़ा करने की कोशिश की गई है.

वीडियो शिन्या के नये शो "स्पार्क" में दिखाया गया है. इसमें एंकर डियर वांग भारत पर चीन की सीमा में घुसपैठ करने, अंतरराष्ट्रीय कानूनों का उल्लंघन करने और इस विवाद में फंसे छोटे से देश भूटान का "अपहरण" करने का आरोप लगाती हैं. वीडियो में पगड़ी पहने और हाथों में लाठी लिए एक दाढ़ी वाला शख्स मंदबुद्धि की तरह सवालों के जवाब देता है. 3 मिनट का वीडियो ट्विटर पर जारी किया गया है जबकि ट्विटर पर चीन में पाबंदी है. अमेरिकी लहजे वाली अंग्रेजी में वांग सवाल पूछती हैं, "क्या तुमने कभी उस लुटेरे से समझौता किया है जो जबरदस्ती तुम्हारे घर में घुस आया हो और बाहर जाने से मना कर रहा हो?" वांग अगले सवाल में सुझाव देते हुए पूछती हैं, "आप 911 को फोन करेंगे या फिर सीधे उससे लड़ेंगे, ठीक है ना?"

दाढ़ी वाला कलाकार तुरंत जवाब देता है, "911 को क्यों फोन करना, आप घर घर नहीं खेलना चाहते भाई." इसके बाद आखिर में डियर कहती हैं, "अगर खेलना चाहते हो तो पहले मेरे घर से बाहर निकलो."

भारत और चीन के बीच ये विवाद जून में शुरु हुआ जब भारत के सैनिकों ने डोकलम इलाके में चीन को सड़क बनाने से रोका. इस वीरान इलाके पर चीन और भूटान दावा करते हैं. भूटान भारत का पड़ोसी और सहयोगी देश है. चीन लगातार भारत से अपनी सेना वापस हटाने को लिए कह रहा है और ऐसा नहीं करने पर विवाद बढ़ने की चेतावनी भी दे रहा है. चीन की सरकारी मीडिया ने भारत को चेतावनी दी है कि नतीजे 1962 की जंग से ज्यादा बुरे हो सकते हैं. दोनों देशों के बीच 1962 के बाद कई बार विवाद हो चुके हैं और सीमा को लेकर जब तब समस्याएं पेश आती रही हैं. हालांकि इस बार ये मामला थोड़ा लंबा खिंच गया है. इसके बावजूद वीडियो को लेकर भारत में गुस्से की जगह हंसी मजाक ही दिख रहा है. पगड़ी पहने भारतीय पक्ष को प्रदर्शित करता कलाकार लोगों के चेहरे पर मुस्कान ला रहा है.

भारत के रक्षा मामलों के विशेषज्ञ अजय शुक्ला ने ट्वीट किया है, "यह चीन का आधिकारिक तौर पर मजाक करने का तरीका है. शिन्हुआ ये तय नहीं कर पाया कि मजाक करना है या फिर प्रचार के लिए वीडियो बनाना है."

भारत के विदेश विभाग ने अभी कोई तत्काल प्रतिक्रिया नहीं दी है और ना ही चीन के विदेश मंत्रालय ने. शिन्हुआ ने इस वीडियो पर सवाल फैक्स करने के लिए कहा है जिसका तुरंत कोई जवाब नहीं आया है.

एनआर/एमजे (रॉयटर्स)

संबंधित सामग्री