1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

चीनी मानवाधिकार वकील को दो साल की कैद

चीन ने एक प्रमुख मानवाधिकार वकील जियांग तियानयोंग को राज्य के खिलाफ विद्रोह उकसाने के आरोप में दो साल की सजा दी है. वकील ने अदालत में सरकार विरोधी मुवक्किलों का बचाव किया था.

दक्षिण चीन में एक अदालत ने जियांग तियानयोंग को राज्य के खिलाफ विद्रोह उकसाने का दोषी पाया. नागरिक अधिकार एक्टिविस्टों ने इस फैसले को अनुचित बताया है. वकील के रूप में अपने करियर मे जियांग ने ऐसे मुकदमे लड़े हैं जिन्हें चीन की सरकार संवेदनशील मानती है. चांगशा की लोक अदालत ने माइक्रोब्लॉगिंग साइट वाइबो पर एक बयान में कहा है कि जियांग को तीन साल के लिए राजनैतिक अधिकारों से भी वंचित कर दिया जायेगा.

अदालत का कहना है कि जियांग ने चीन की सरकार, न्यायपालिका और न्यायिक व्यवस्था को बदनाम किया और विदेशों में यह सीखने के लिए वर्कशॉपों में हिस्सा लिया कि चीन की राजनीतिक व्यवस्था को कैसे नष्ट किया जाए. अदालत ने जियांग पर अपने साथी नागरिक अधिकार समर्थक शी यांग को हिरासत में उत्पीड़ित किये जाने की अफवाह फैलाने का आरोप भी लगाया. अदालत ने कहा है कि जियांग इस फैसले के खिलाफ अपील नहीं करेंगे.

46 वर्षीय वकील ने अगस्त में चले मुकदमे में अपनी गलती मान ली थी. एक्टिविस्टों का कहना है कि उनसे दबाव में अपराध कबूल कराया गया है. जियांग की पत्नी जीन बियानलिंग ने कहा है कि वे इस फैसले को कभी वैध नहीं मानेंगी. 15 साल की बेटी के साथ अमेरिका में रह रही जिन ने एक संदेश में कहा, "मैं सोच भी नहीं सकती कि मेरे पति से कैसे अपराध कबूल कराया गया, किस तरह की यातना और धमकियों के जरिये." जिन ने कहा कि वे अपने पति के स्वास्थ्य के बारे में चिंतित हैं. उन्होंने जियांग को परिवार से मिलने की अनुमति देने की मांग की.

मानवाधिकार संगठन एमनेस्टी इंटरनेशनल के रिसर्चर विलियम नी ने कहा है कि जियांग ने कोई अपराध नहीं किया है. उन्हें दी गयी सजा आज के चीन में मानवाधिकारों के लिए लड़ने की बहादुरी दिखाने वालों को चीनी अधिकारियों द्वारा व्यवस्थित तरीके से उत्पीड़ित किये जाने की एक और मिसाल है. जियांग जर्मन नेताओं से भी मिलते रहे हैं. उन्हें तत्कालीन जर्मन वाणिज्य मंत्री जिगमार गाब्रिएल से मुलाकात के तीन हफ्ते बाद गिरफ्तार कर लिया गया था. वे जर्मन चांसलर अंगेला मैर्केल से भी मिले थे. चीन के मौजूदा नेता शी जिनपिंग के कार्यकाल में सरकार विरोधियों के खिलाफ कार्रवाइयों में तेजी आयी है.

एमजे/ओएसजे (डीपीए)

DW.COM

संबंधित सामग्री