1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

चिली ने हटाई सूनामी की चेतावनी

चिली में 8.2 की तीव्रता वाले भूकंप के कारण शुरुआती आंकड़ों के मुताबिक पांच लोगों की मौत हो गयी है. देश के कई इलाकों में जारी की गई सूनामी की चेतावनी को अब वापिस ले लिया गया है.

भूकंप का केंद्र उत्तरी शहर इकीक से 83 किलोमीटर दूर था. यह शहर राजधानी सनतिआगो से 1,500 किलोमीटर दूर है. स्थानीय समय शाम 8.46 पर यहां दो मिनट तक भूकंप के झटके महसूस किए गए. सरकार ने लोगों से घर छोड़ कर किसी ऊंची जगह जाने को कहा है. लोगों में अफरा तफरी का माहौल है.

राष्ट्रपति मिशेल बाखलेट ने उत्तरी चिली के कई इलाकों को आपदाग्रस्त घोषित किया है. लोगों की मदद करने और लूटपाट की स्थिति को रोकने के लिए सरकार ने प्रभावित इलाकों में सेना को भेजना का फैसला किया है.

राजधानी सनतिआगो से 1,000 किलोमीटर दूर अरिका शहर की एक निवासी ने समाचार एजेंसी एएफपी को बताया, "सभी स्ट्रीट लाइटें टूट गयी थीं. लोग डर के मारे इधर उधर भाग रहे थे. भूकंप के बाद भी कई झटके महसूस किए गए."

भूकंप के फौरन बाद पैसिफिक सूनामी वॉर्निंग सेंटर ने तट से 4,800 किलोमीटर तक के क्षेत्र में सूनामी की चेतावनी जारी कर दी. सेंटर का कहना है कि भूकंप के कारण समुद्र में छह मीटर तक ऊंची लहरें उठ रही हैं. नौसेना के अनुसार पहली बड़ी लहर भूकंप के 45 मिनट बाद उठी. चिली के गृह मंत्रालय ने छह घंटों के लिए सूनामी की चेतावनी जारी की थी जिसे अब हटा लिया गया है.

वहीं राहतकार्य के लिए काम करने वाली एजेंसी ओनेमी का कहना है कि भूकंप के कारण ज्यादा नुकसान नहीं हुआ है. हालांकि इकीक एयरपोर्ट के कंट्रोल टावर पर बुरा असर पड़ा है. सड़कें भी काफी प्रभावित हुई हैं और भूकंप के बाद अब देश के 80 फीसदी हिस्से में बिजली नहीं है.

तांबे के खनन में चिली दुनिया में सबसे आगे है. सरकार का कहना है कि खदानों पर कोई असर नहीं पड़ा है. लेकिन भूकंप के दौरान इकीक में 300 महिला कैदी जेल तोड़ कर भाग निकली. इनमें से 26 को बाद में फिर से पकड़ लिया गया.

आईबी/एएम (एएफपी, रॉयटर्स)

DW.COM

संबंधित सामग्री