1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

चिड़ियाघर में जन्मा दुर्लभ लाइजर

रूस के चिड़ियाघर में एक लाइजर का जन्म हुआ है. शेर और बाघिन के क्रॉस से होने वाले बच्चे को लाइजर कहा जाता है.

रूस के चलते फिरते चिड़ियाघर समारा सर्कस में जन्मा लाइजर शावक स्वस्थ है. नन्हें शावक का नाम टीजर रखा गया है. फिलहाल उसे बकरी का दूध पिलाया जा रहा है. चिड़ियाघर के अधिकारियों के मुताबिक प्राकृतिक तौर पर बाघ और शेर का क्रॉस असंभव सा है. जंगल में जहां बाघ होंगे और वहां शेर नहीं पाए जाते और जहां शेर रहते हैं वहां बाघ नहीं होते.

समारा सर्कस के डायरेक्टर एरिक एरापेत्यान कहते हैं, "बाघिन और शेर लंबे समय से अगल बगल रहते हैं. वे दोनों एक दूसरे को अच्छी तरह जानते हैं. मां (बाघिन) हीट में थी, लेकिन कोई बाघ मौजूद नहीं था. हमने देखा कि बाघ की गैरमौजूदगी के चलते उसे मुश्किल हो रही थी. तभी हमने उसे शेर के साथ रखने का फैसला किया. हमारे पास इसके अलावा कोई और विकल्प नहीं था."

सफल क्रॉस के बाद बाघिन ने मिक्स ब्रीड वाले लाइजर शावक को जन्म दिया. शावक का नामकरण कैसे हुआ, इसके बारे में एरापेत्यान कहते हैं, "उसके पिता नाम सीजर है और मां प्रिंसेज, इसी वजह से हमने उसे टीजर कहने का फैसला किया."

लाइजर वैज्ञानिकों को हैरान करते हैं. वयस्क लाइजर का आकार अपने माता-पिता के मुकाबले कहीं ज्यादा बड़ा होता है. दुनिया में इस वक्त सबसे बड़ा लाइजर हरक्यूलस है, जिसका वजन 418 किलोग्राम है. वह 3.3 मीटर लंबा भी है.

पशु अधिकारों की वकालत करने वाले ऐसे प्रजजन को क्रूरता करार देते हैं. उनका दावा है कि ऐसी क्रॉस ब्रीडिंग से पैदा होने वाले लाइजर को कई सेहत संबंधी परेशानियां होती हैं. विशाल आकार को भी वह एक खामी मानते हैं. दुनिया भर में इस वक्त 23 लाइजर हैं.

ओएसजे/एमजे (एएफपी)

DW.COM