1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

चव्हाण और कलमाडी पर गिर ही गई गाज

भारत में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण और कांग्रेस संसदीय दल के सचिव सुरेश कलमाडी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. भ्रष्टाचार के मामलों में नाम आने पर दोनों पर यह गाज गिरी है.

default

चव्हाण की छुट्टी

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के आदेश का तत्काल पालन कर चव्हाण ने राज्यपाल के शंकरनारायणनन को अपना इस्तीफा सौंप दिया जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया. राज्यपाल ने चव्हाण से नए मुख्यमंत्री के शपथ लेने तक अपने पद पर काम करने को कहा है.

कारगिल में शहीद सैनिकों के परिजनों को घर मुहैया कराने के लिए बनी आदर्श हाऊसिंग सोसाइटी में चव्हाण के करीबी रिश्तेदारों को भी फ्लैट आवंटित किए जाने की बात उजागर होने पर यह मामला तूल पकड़ गया. इस मामले को संसद के शीतकालीन सत्र में विपक्षी दलों की ओर से जोरशोर से उठाने की आशंका को देखते हुए उनसे इस्तीफा देने को कहा गया. कांग्रेस महासचिव जनार्दन द्विवेदी ने बताया कि पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने चव्हाण से इस्तीफा देने को कहा है.

वहीं कॉमनवेल्थ खेलों के आयोजन में भारी पैमाने पर भ्रष्टाचार के आरोपों के चलते कलमाडी से इस्तीफा देने को कहा गया. द्विवेदी ने बताया कि कांग्रेस अध्यक्ष गांधी ने कलमाडी का इस्तीफा मंजूर कर लिया है.

कांग्रेस आलाकमान ने चव्हाण और कलमाडी का अब और बचाव न करने का फैसला कर दोनों को इस्तीफा देने को कहा. हालांकि चव्हाण पहले ही अपने इस्तीफे की पेशकश कर चुके हैं लेकिन पार्टी के स्तर

Indien Flash-Galerie Commonwealth Games Maskott

कलमाड़ी के भी कतरे पर

पर चल रही जांच के मद्देनजर कांग्रेस नेतृत्व ने उन्हें फिलहाल इस्तीफा न देने को कहा था. वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी और रक्षा मंत्री एके एंटनी की समिति इस मामले की जांच कर रही है. विपक्ष को इस पर राजनीतिक फायदा उठाने का मौका देने से बचने के लिए कांग्रेस हाई कमान ने समिति की जांच रिपोर्ट आने से पहले ही यह फैसला किया.

मंगलवार को मुखर्जी और एंटनी महाराष्ट्र में कांग्रेस विधायक दल की मुंबई में होने जा रही बैठक में पार्टी हाई कमान के पर्यवेक्षक के रूप में मौजूद रहेंगे. बैठक में नए मुख्यमंत्री का चुनाव होगा.

पिछले दस दिनों से चव्हाण पर कुर्सी छिनने की तलवार लटक रही थी. अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा की भारत यात्रा के मद्देनजर कांग्रेस हाई कमान ने मामले को कुछ समय के लिए ठंडे बस्ते में डाल दिया ताकि ओबामा का दौरा शांतिपूर्वक निपट जाए और विपक्ष को राजनीति करने का मौका भी न मिले. ओबामा का दौरा खत्म होते ही चव्हाण और कलमाडी के लिए इस्तीफे का फरमान जारी कर दिया गया.

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भी अब संसद का शीतकालीन सत्र शांतिपूर्वक बिना किसी विघ्न बाधा के सम्पन्न होने की उम्मीद जताई है. संसद में सोमवार को इस बारे में पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए सिंह ने कहा कि वह इस मामले पर सभी पार्टियों से बात करेंगे और उन्हें उम्मीद है कि संसद में अब कोई गतिरोध नहीं होगा.

रिपोर्टः एजेंसियां/निर्मल

संपादनः ए कुमार

DW.COM

WWW-Links