1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

NRS-Import

चल पड़ी है वोक्सवागेन की गाड़ी

जर्मन गाड़ी वोक्सवागेन सारी दुनिया में परिचित है - छोटी गाड़ी, लेकिन भरोसेमंद. अब उसके बड़े मॉडल भी आ चुके हैं. और उसके साथ जुड़ी हुई फ़ुटबॉल टीम भी अब बुंडेसलीगा में है, हाल में चैंपियन भी बन चुकी है.

default

नए कोच स्टीव मैकलैरेन.

1970 के बाद से कोई नया क्लब बुंडेसलीगा चैंपियन नहीं बना. इस परंपरा को तोड़ा 2008-09 के सत्र में वीएफ़एल वोल्फ़्सबुर्ग ने. इसके अलावा 1997 में बुंडेसलीगा में आने के बाद वह लगातार वहां बना हुआ है, यह भी अपने आप में रिकॉर्ड है. लेकिन चैंपियन बनाने वाले कोच मागाथ पिछले सत्र में शाल्के चले गए. उनके स्थान पर आए आर्मिन फ़ेह, लगातार नौ मैचों में हार के बाद जिन्हें जाना पड़ा. आखिरकार क्लब को आठवां स्थान मिला, जो शुरू के नतीजों के मद्देनज़र बुरा नहीं था. देखना है कि इस साल पहली जुलाई को आए नए कोच स्टीव मैकलैरेन के निर्देशन में टीम इस बार कहां तक पहुंचती है.

वीएफ़एल वोल्फ़्सबुर्ग बुंडेसलीगा के उन क्लबों में है, जिन्हें कंपनी का क्लब कहा जाता है. 1945 में बने इस क्लब को 2001 से एक लिमिटेड कंपनी का रूप दिया गया है, जिसके 100 फ़ीसदी शेयरों का मालिक है वोल्फ़्सबुर्ग का मोटर गाड़ी कारखाना वोक्सवागेन. इस बीच क्लब के 15000 से ऊपर सदस्य हो चुके हैं. लेकिन अधिकतर सदस्य सक्रिय खिलाड़ी नहीं, बल्कि वोक्सवागेन में काम करने वाले क्लब के फ़ैन्स हैं.

कोच ढूंढना क्लब के लिए आसान नहीं रहा. आख़िरकार इंगलैंड के पूर्व राष्ट्रीय कोच स्टीव मैकलैरेन को लाया गया. उनके निर्देशन में एनशेडे की टीम एक साल पहले नीदरलैंड्स में चैंपियन बनी थी. उनका साथ दे रहे हैं किसी ज़माने के मशहूर जर्मन खिलाड़ी पिएरे लिटबारस्की. मैनेजर हैं डीटर होएनेस, जिन्हें जर्मनी में एक कुशल फ़ुटबॉल मैनेजर माना जाता है. जहां तक खिलाड़ियों का सवाल है, तो ज्यूरिख से नसीम बेन खलीफ़ा, बर्लिन से राष्ट्रीय टीम के खिलाड़ी आर्ने फ्रीडरिश, पालैर्मों से डेनमार्क के खिलाड़ी सिमोन काएर और ज़ागरेब से मारियो मांडजुकिच को लाया गया है. इसके अलावा ब्राज़ील के सिसेरो एफ़सी टोंबेनज़े से लौट आए हैं.

लेखः उज्ज्वल भट्टाचार्य

संपादनः ए जमाल