1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

चर्च ने कश्मीर की हिंसा को बेमतलब बताया

कैथोलिक चर्च के केंद्र वेटिकन ने भारतीय कश्मीर में जारी हिंसा को बेमतलब बताते हुए इसकी निंदा की. कश्मीर में सोमवार को लोग अमेरिका में कुरान जलाने के एलान के विरोध में सड़कों पर उतरे. भीड़ ने एक मिशनरी स्कूल को आग लगाई.

default

अंतर-धार्मिक विचार विमर्श के लिए पोप की परिषद के सचिव पिएर लुइगी सिलाटा ने टीवी चैनल स्काई टीजी 24 से कहा, "बदकिस्मती से हिंसा हिंसा को जन्म देती है. बेतमतलब हिंसा को, क्योंकि यह मासूम लोगों की जान को निशाना बनाती है."

कश्मीर में हिंसक भीड़ पर पुलिस की गोलीबारी में सोमवार को 17 लोगों की जान चली गई. यहां पिछले करीब तीन महीने से हिंसक प्रदर्शन जारी हैं, लेकिन अब तक एक ही दिन में सबसे ज्यादा मौतें सोमवार को ही हुईं. हिंसा में अब तक कुल 84 जानें जा चुकी हैं. मरने वालों में एक पुलिसकर्मी भी शामिल है.

राज्य के पुलिस प्रमुख कुलदीप खोड़ा और अन्य स्थानीय अधिकारियों ने इस हिंसा के लिए ईरान के सरकारी टेलीविजन की उस रिपोर्ट को जिम्मेदार ठहराया है, जिसमें अमेरिका में व्हाइट हाउस के बाहर कुछ लोगों के कुरान के पन्ने फाड़ने की बात कही गई. यह घटना शनिवार को 9/11 की बरसी पर हुई. बाद में अधिकारियों ने राज्य में इस टीवी चैनल पर प्रतिबंध लगा दिया.

सिलाटा ने कहा, "इन खबरों से हमें काफी दुख पहुंचा है." पोप बेनेडिक्ट के एक बयान का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि हिंसा के जवाब में हिंसा को कभी सही नहीं ठहराया जा सकता और यह धर्म के नियमों के खिलाफ है.

उधर कश्मीर में हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं. यहां की हवाई सेवा को तीन दिन के लिए बंद कर दिया गया है. कश्मीर एयरपोर्ट पर जारी मरम्मत के काम के चलते उड़ानों को पिछले कुछ दिनों से अवंतिपोरा में सेना के अड्डे पर भेजा जा रहा था. लेकिन सोमवार को हुई हिंसा के बाद तीन दिन के लिए सभी उड़ानें रद्द कर दी गईं.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः आभा एम

DW.COM

WWW-Links