1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

चर्चा पर चर्चा लेकिन असद पर एकमत नहीं

यूरोपीय यूनियन ने रूस से कहा है कि वह सीरिया में असद के विरोधियों पर बमबारी रोके. ईयू के मुताबिक रूस असद के विरोधियों पर बमबारी कर सीरिया में शांति प्रयासों को खतरे में डाल रहा है. असद की भूमिका पर ईयू देश एकमत नहीं.

सीरिया संकट में रूस के नाटकीय सैन्य दखल में यूरोपीय यूनियन एकजुट रवैया चाहता है. लक्जेमबर्ग में इकट्ठा हुए ईयू के विदेश मंत्रियों ने चेतावनी दी कि असद के समर्थन में होने वाले हवाई हमले सीरिया में साढ़े चार साल से चल रहे गृह युद्ध को और हवा दे सकते हैं. इस गृह युद्ध में अब तक ढाई लाख से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं और लाखों बेघर हुए हैं.

रूसी दखल पर ईयू के विदेश मंत्रियों के सामूहिक बयान में कहा गया है, "रूस के हालिया सैन्य हमले गहरी चिंता का विषय हैं, उन्हें तुरंत रुकना होगा." लक्जेमबर्ग में मिलने के लिए जमा हुए विदेश मंत्रियों के मुताबिक, "बढ़ रहे सैन्य दखल से मतभेद के बढ़ने, राजनीतिक कार्रवाई में रुकावट, मानवीय संकट में बढ़ावे और कट्टरपंथ के बढ़ने का खतरा है." इसके बाद ब्रसेल्स में भी ईयू नेता सीरिया में रूस के सैन्य दखल पर चर्चा करने के लिए मिलेंगे.

सीरिया में जारी गृह युद्ध ने ईयू के सामने शरणार्थियों का बड़ा मुद्दा लाकर खड़ा कर दिया है. सितंबर में रूस ने सीरिया में आईएस लड़ाकों से निपटने के लिए अमेरिका और यूरोप के साथ आने पर सहमति जताई थी. इसके बाद से रूस द्वारा सीरिया में की जा रही बमबारी पर सवाल उठते रहे हैं कि यह बमबारी आईएस लड़ाकों पर नहीं, बल्कि राष्ट्रपति बशर अल असद का विरोध करने वालों पर हो रही है.

असद की भूमिका और भविष्य पर ईयू बंटा हुआ है. इस बात पर सहमति नहीं बन पाई है कि असद के साथ युद्ध विराम कर दोबारा चुनाव की स्थिति हो या फिर असद को गिरफ्तार कर जेल भेजा जाए. चर्चा में हिस्सा ले रहे ईयू के एक कूटनीतिज्ञ गद्दाफी के तख्तापलट के बाद लीबिया की बर्बादी का उदाहरण देते हुए कहते हैं, "असद के सारे विरोधी मारे जा चुके हैं, या फिर वे जेल में हैं. किसी को भी एक और लीबिया नहीं चाहिए."

स्पेन के विदेश मंत्री खोसे मानुएल गार्सिया मारगाओ का मानना है कि पश्चिम को असद से सीरिया को दोबारा स्थिर करने के बारे में बात करनी होगी. लेकिन असद पर युद्ध अपराध के आरोपों की जांच कर रहा फ्रांस चाहता है कि असद पद छोड़ें. फ्रांस के यूरोपीय मामलों के मंत्री हारलेम देसीर ने कहा, "सीरिया में शांति के लिए राजनीतिक बदलाव की जरूरत है. वह असद के बिना होना चाहिए." ब्रिटेन का भी मानना है कि असद का राष्ट्रपति बने रहना ठीक नहीं, लेकिन वह पद छोड़ने के लिए असद से बातचीत को तैयार है.

एसएफ/आईबी (रॉयटर्स)

DW.COM

संबंधित सामग्री