1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

चमत्कार के भरोसे धोनी की टीम

वर्ल्ड कप में भारतीय टीम को किस्मत और चमत्कार से उम्मीद है. सुपर 8 के दोनों मैच हारने के बाद धोनी की टीम को श्रीलंका को बड़े अंतर से हराना होगा और दुआ करनी होगी कि ऑस्ट्रेलिया दूसरे मुकाबले में वेस्ट इंडीज को धो दे.

default

और अगर ऐसा हो पाता है तो टीम इंडिया के लिए सेमीफाइनल के दरवाजे खुल सकते हैं. मौजूदा चैंपियन पाकिस्तान के लिए कुछ ऐसा ही हुआ है, जो सुपर 8 के अपने दो मुकाबले हारने के बाद एकमात्र जीत के साथ आखिरी चार में पहुंच गया है.

हालांकि भारत का मुकाबला आसान नहीं है. उसे श्रीलंका की दिग्गज टीम से भिड़ना है, जिसने वेस्ट इंडीज को 57 रन की बड़ी हार दी थी. और बाद में भारत वेस्ट इंडीज से भी हार गया. ऐसे में श्रीलंका को बड़े अंतर से हराना धोनी की टीम के लिए आसान नहीं होगा. पाकिस्तान के अलावा ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड की टीमें सेमीफाइनल में पहुंच गई हैं. चौथी टीम के लिए भारत, श्रीलंका और वेस्ट इंडीज में टक्कर है. आखिरी दो मैच इस बात को तय करेंगे कि सेमीफाइनल की चौथी टीम कौन सी होगी.

भारत के सामने चुनौती इस बात की है कि अगर वह पहले बल्लेबाजी करती है तो श्रीलंका को कम से कम 20 रन से हरा दे और अगर बाद में बल्लेबाजी करती है तो लक्ष्य 17.5 ओवर में ही पूरा कर ले. सिर्फ 20 ओवर के खेल में ये दोनों ही समीकरण आसान नहीं. हालांकि भारत के नाम इस तरह के जोड़ तोड़ से सेमीफाइनल में पहुंचने का रिकॉर्ड रहा है. अगर भारत यह काम कर देता है तो पिछले साल का उपविजेता श्रीलंका वर्ल्ड कप से बाहर हो जाएगा.

Cricket West-Indien

क्या चलेंगे युवराज

लेकिन बड़ी जीत के बावजूद भारत को ब्रिजटाउन में ही बाद में खेले जाने वाले ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज़ के मुक़ाबले पर भी नज़र रखनी होगी. भारत की बड़ी जीत के बाद अगर ऑस्ट्रेलिया भी जीतता है तो टीम इंडिया वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में पहुंच जाएगी. लेकिन मेज़बान टीम की जीत या ऑस्ट्रेलिया की हार होती है तो भारत वर्ल्ड कप से विदा हो जाएगा.

फिलहाल श्रीलंका और वेस्टइंडीज़ का नेट रन रेट भारत से अच्छा है. ऐसे में भारतीय टीम को बढ़िया खेल के साथ साथ दुआओं की भी ज़रूरत है. मैच से पहले भारतीय कप्तान ने कहा, ''इस तरह के टूर्नामेंट में आपको बढ़िया खेल की ज़रूरत पड़ती है. हमारे पास एक मैच बचा है. श्रीलंका अच्छी फॉर्म में दिख रही है और हमारी कोशिश होगी कि हम अच्छा प्रदर्शन करें. समीकरणों की परवाह किए बिना हमें अच्छा खेलना है. हमे यह देखना है कि यह मैच हम कैसे जीत सकते हैं.''

भारत ने ट्वेन्टी 20 का पहला वर्ल्ड कप जरूर जीता था लेकिन वह पिछले टी-20 वर्ल्ड कप में भी सेमीफाइनल तक नहीं पहुंच पाई थी. तब टीम की जमकर आलोचना हुई थी. ज़ाहिर है पुरानी बातों को ध्यान में रखते हुए टीम की और ख़ास तौर पर बल्लेबाज़ों की अब पूरी कोशिश होगी कि श्रीलंका के ख़िलाफ़ धमाकेदार प्रदर्शन किया जाए. वर्ना,बड़े तारे ज़मीन पर ज़रूर आएंगे.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: आभा मोंढे

संबंधित सामग्री