1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

चटपटी है बोरिस बेकर की नई आत्मकथा

जर्मनी के रिटायर्ड टेनिस स्टार बोरिस बेकर की एक और आत्मकथा बाजार में आ रही है. म्यूनिख के पब्लिकेशन हाउस हैर्बिष फरलाग से प्रकाशित किताब का नाम है, जिंदगी खेल नहीं है. पहला एडीशन ही एक लाख का है.

प्रकाशकों का कहना है कि रंगीले तबियत के बोरिस बेकर की दूसरी आत्मकथा पहले के मुकाबले कहीं गहराई से उनकी रोमांटिक जिंदगी की परतें खोलेगी. इसमें उनकी पहली पत्नी बारबरा के साथ 2001 में हुए तलाक से पहले हुए ड्रामा का बखान तो होगा ही, एंजेला एर्माकोवा के साथ होटल के झाड़ू रखने वाले कमरे में हुए सेक्स और उससे पैदा हुए बच्चे के पितृत्व मुकदमे के बारे में भी बेकर अपनी कहानी बताएंगे.

"थोड़ा इंतजार करें"

बेकर की पहली आत्मकथा 2004 में आई थी. उसके जर्मन संस्करण का नाम था, "थोड़ा इंतजार करें" जबकि अंग्रेजी में वह खिलाड़ी के नाम से छपी थी. 288 पेज वाली आत्मकथा के बारे में प्रकाशकों का कहना है, "आपने बोरिस बेकर के बारे में जो कुछ सोचा वह सिर्फ आधा सच साबित हुआ है, यह पूरी तरह बेबाक और मनोरंजक इकरारनामा है."

वह घड़ी कुछ भुला सी दी गई है जब 1985 में 17 साल के एक किशोर खिलाड़ी ने अपनी मुट्ठियां हवा में लहराई थीं, उसने पवित्र ग्रासकोर्ट पर टूर्नामेंट जीतने का कारनामा कर दिखाया था. इसके साथ ही वह कम से कम जर्मनी में राष्ट्रीय हीरो बन गया था. बेकर ने 17 साल की उम्र में पहली बार विंबलडन जीता था और उसके बाद टेनिस की दुनिया पर छा गए थे. उनकी पहली आत्मकथा 36 साल की उम्र में बाजार में आई. अब उनकी उम्र 45 है और वे दूसरी आत्मकथा के साथ फिर से तहलका मचा रहे हैं.

Boris Becker Lilly Becker Oktoberfest 2013

पत्नी लिली के साथ बोरिस बेकर

हैर्बिष ने बुंटे पत्रिका में छपी इन रिपोर्टों का खंडन किया है कि छह ग्रैंड स्लैम जीतने वाले टेनिस खिलाड़ी की एक पूर्व गर्ल फ्रेंड ने किताब के प्रकाशन के खिलाफ कोर्ट में जाने की धमकी दी है. प्रकाशन हाउस की एक प्रवक्ता ने कहा, "कोई मुकदमा नहीं हुआ है और कोई धमकी नहीं दी गई है."

तलाक का ड्रामा

बारबरा से तलाक के दस साल बाद वे खुले आम उसकी बात कर रहे हैं. यह थोड़ा चकित करने वाला है क्योंकि अब तक वे अपना पैचवर्क परिवार समरसता और मेलजोल के साथ चला रहे थे, जिसमें बारबरा के साथ उनके दो बेटे नोआह और इलियास के अलावा एर्माकोवा के साथ हुई उनकी बेटी आना और नई पत्नी लिली तथा छोटा बेटा आमाडेउस हैं. पिछले सालों में सिर्फ एक छोटा सा झगड़ा सामने आया है जब बारबरा ने अपने पूर्व पति के साथ रिश्ते पर कहा था, "इसके बारे में मैं सिर्फ इतना कहूंगी कि अतीत को कभी न कभी पीछे छोड़ देना चाहिए."

उस समय आहत बोरिस बेकर ने ट्वीट किया था कि बारबरा को शादी के बाद लिया गया अपना पारिवारिक नाम बेकर छोड़ जेना चाहिए. अपनी आत्मकथा में बोरिस ने लिखा है, "तलाक का ड्रामा, सुनने में सनसनीखेज लगता है, लेकिन जो इस लड़ाई में फंसे होते हैं उनके लिए इसका कोई मनोरंजन का मूल्य नहीं होता." लेकिन ऐसा सोचने के बावजूद वे इस लड़ाई के बारे में विस्तार से लिखने में चूके नहीं हैं. अपनी पहली बीवी के साथ झगड़ों की उन्होंने खुलकर चर्चा की है.

"मुझे प्यार की चाहत थी"

झाडू वाले कमरे से संबंधित कांड के बारे में बोरिस बेकर ने हाल ही में कहा था कि वह सच नहीं था, दरअसल वह टॉयलेटों के बीच एक सीढ़ी पर हुआ था. उसके बारे में अब उन्होंने अपनी आत्मकथा में लिखा है, "मुझे प्यार, सुरक्षा और आत्मीयता की चाहत थी. और जब यह आपको घर पर नहीं मिलता तो हो सकता है कि आप दूसरी जगह लें, जब भी मौका मिले." एंजेला इर्माकोवा के साथ इस छोटे से रिश्ते से बेटी आना पैदा हुई.

इस बीच बोरिस बेकर अपनी पत्नी लिली के साथ शांत जिंदगी गुजार रहे हैं और पब्लिक में कम ही देखे जाते हैं. ट्वीट कर खबरों में बने रहना पूर्व टेनिस स्टार का आजकल सबसे प्यारा और पंसदीदा खेल है. सोशल मीडिया पर वे अपनी तस्वीरें पोस्ट करते हैं या विश्व की प्रमुख घटनाओं पर टिप्पणी करते हैं. 2,34,000 फॉलोवर के साथ वे जर्मनी के स्टारों में लोकप्रियता में छठे स्थान पर हैं.

एमजे/आईबी (डीपीए)

DW.COM

संबंधित सामग्री