1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

घोड़े ढाई कदम, ऊंट दौड़े टेढ़े और वर्ल्ड रिकॉर्ड

वहां घोड़े ढाई कदम, हाथी सीधे और ऊंट टेढ़े दौड़ रहे थे. लोग हैरान थे. अहमदाबाद की गुजरात यूनिवर्सिटी में शुक्रवार को शतरंज का मेला लगा था. जिधर देखो शतरंज की बिसात बिछी हुई थी.

default

यह नजारा अहमदाबाद में स्वर्णिम शतरंज महोत्सव का था जिसके आयोजकों को दावा है कि उन्होंने वर्ल्ड रिकॉर्ड बना लिया है. इस जगह पर एक साथ 20 हजार से ज्यादा लोगों ने शतरंज खेली. और जाहिर है जहां शतरंज होगा वहां विश्वनाथन आनंद तो होंगे ही.

Deutschland Schach Weltmeisterschaft in Bonn Wladimir Kramnik gegen Viswanathan Anand

एक ही जगह पर एक ही वक्त पर सबसे ज्यादा शतरंज के गेम खेले जाने के लिए इस महोत्सव का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल किया गया है. इससे पहले यह रिकॉर्ड मेक्सिको में कायम किया गया था जहां 13 हजार लोगों ने एक साथ शतरंज खेली थी. अहमदाबाद में मौजूद 20 हजार खिलाड़ियों में हर उम्र के लोग थे.

शतरंज महोत्सव में गिनीज बुक के प्रतिनिधि तारिका वारा भी मौजूद रहीं. उन्होंने एलान किया कि यह वर्ल्ड रिकॉर्ड अब गुजरात के नाम पर दर्ज किया जाता है. वारा ने कहा कि यह उनके लिए अद्भुत अनुभव रहा. उन्होंने कहा, "शतरंज खेलने वाले खिलाड़ियों के प्रतिभा से मैं हैरत में हूं. और एक खेल को लेकर इस तरह का उत्साह भी अद्भुत है."

विश्व शतरंज चैंपियन विश्वनाथन आनंद ने कहा कि यह उनकी जिंदगी के सबसे महत्वपूर्ण दिनों में से एक है. आनंद ने कहा, "इस तरह के उत्सव का हिस्सा बनकर मैं गर्व का अनुभव कर रहा हूं. इतनी बड़ी प्रतियोगिता में इससे पहले कभी शामिल नहीं हुआ." आनंद ने नौजवान खिलाड़ियों से भी बातचीत की. उन्होंने कहा कि लोगों का उत्साह देखकर वह इतने प्रभावित हैं कि उनके पास बयान करने के लिए शब्द ही नहीं हैं.

आनंद ने कहा कि वह गुजरात सरकार के साथ मिलकर राज्य के बाकी हिस्सों में भी शतरंज को लोकप्रिय बनाने के लिए काम करने चाहते हैं.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः आभा एम

DW.COM

WWW-Links