1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

घेरे तोड़ कर फैलता फिक्सिंग

भारत में स्पॉट फिक्सिंग का मामला गिरफ्तार लोगों के दायरे तोड़ता कुछ स्टार खिलाड़ियों, अंपायरों और क्रिकेट आयोजकों को भी लपेट में लेने लगा है. रोज नई गिरफ्तारी हो रही है और कानून बनाने की मांग जोर पकड़ रही है.

देश से फरार होते एक और बुकी को गिरफ्तार किया गया है, जबकि आईपीएल के आखिरी दो मैच से पहले भारतीय क्रिकेट बोर्ड के बॉस भी फिक्सिंग की आंच में फंसते नजर आ रहे हैं. पाकिस्तान के एक अंपायर और कुछ नामचीन सितारा खिलाड़ियों के भी इसमें फंसने की आशंका जताई जा रही है, जिसके बीच बोर्ड और सरकार ने फिक्सिंग के खिलाफ कानून बनाने की कोशिश तेज कर दी है.
आईपीएल के चेयरमैन राजीव शुक्ला और बीसीसीआई के उपाध्यक्ष अरुण जेटली ने शुक्रवार को कानून मंत्री कपिल सिब्बल से मुलाकात की और मांग की कि फिक्सिंग पर जितना जल्दी हो सके, कानून बनाया जाए. शुक्ला भारत सरकार के मंत्री भी हैं. उन्होंने बताया, "आज बीसीसीआई के उपाध्यक्ष और अनुशासनात्मक समिति के अध्यक्ष अरुण जेटली और मैंने श्री कपिल सिब्बल से मुलाकात की और अपील की कि मैच फिक्सिंग रोकने के लिए कड़े से कड़ा संभव कानून बनाया जाए."

Indien Kricketspieler Sreesanth

श्रीसंत भी गिरफ्तार हैं


शुक्ला ने कहा कि इस मामले में खेल मंत्री जीतेंद्र सिंह से भी मुलाकात की जाएगी क्योंकि वह भी कड़ा कानून चाहते हैं. उधर खेल मंत्री जीतेंद्र सिंह का कहना है कि वह लंबे समय से क्रिकेट में भ्रष्टाचार खत्म करने की कोशिश कर रहे हैं, "हम बात कर रहे हैं कि खेलों में किस तरह पारदर्शिता लाई जा सकती है."
श्रीसंत सहित आईपीएल के तीन खिलाड़ियों की गिरफ्तारी के बाद फिक्सिंग का मामला पूरे भारत में छाया हुआ है. यहां तक कि इसकी आंच अब बीसीसीआई प्रमुख और चेन्नई सुपर किंग्स टीम के मालिक एन श्रीनिवासन के दरवाजे तक भी पहुंच चुकी है.
मुंबई पुलिस टीम के मालिक गुरुनाथ मायप्पन से पूछताछ करना चाहती है. इस मामले में गिरफ्तार दारा सिंह के बेटे विंदू दारा सिंह ने मायप्पन के शामिल होने की बात कही है. विंदू ने भारत के कुछ टॉप खिलाड़ियों का भी नाम लिया है. श्रीनिवासन पर दाग लगने के बाद उनसे इस्तीफे की मांग हो रही है, जिस पर वह फिलहाल चुप्पी साधे बैठे हैं.
इस बीच पुलिस ने हैदराबाद एयरपोर्ट से एक संदिग्ध बुकी को गिरफ्तार किया है, जो पुलिस के मुताबिक दुबई भागने की फिराक में था. पुलिस ने इसका नाम मुहम्मद यहया बताया है. दिल्ली पुलिस कमिश्नर नीरज कुमार ने बताया, "उसे दिल्ली लाया जा रहा है और उससे पूछताछ में कुछ और जानकारी मिल सकती है."
इन सबके बीच पाकिस्तान के विवादित अंपायर असद रऊफ का नाम भी फिक्सिंग में जुड़ गया है, जिसके बाद उन्हें अगले महीने की चैंपियंस ट्रॉफी से निकाल दिया गया है. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल आईसीसी ने एक बयान जारी कर कहा, "रिपोर्टों के बीच, हमें लगता है कि असद के और दूसरों के सबसे अच्छे हित में होगा कि उनका नाम आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी से हटा दिया जाए."
रऊफ पर आरोप लग रहे हैं कि उन्होंने बुकियों से बात की और उनकी तरफ से कुछ विवादित फैसले हुए. हालांकि इस बात का कोई सबूत अब तक नहीं मिला है. 57 साल के रऊफ की पिछले साल अगस्त में मुंबई में एक युवा मॉडल के साथ अफेयर की खबरें भी थीं.
पाकिस्तान ने पिछले महीने ही अंपायर नदीम गौरी पर चार साल की पाबंदी लगाई है, जिन पर गड़बड़ियों के आरोप हैं. पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने खुद को रऊफ के ताजा मामले से अलग कर लिया है. पीसीबी चेयरमैन जका अशरफ का कहना है, "हमारा यहां कोई रोल नहीं है और इस मामले से हमें कोई लेना देना नहीं."
एजेए/एमजे (पीटीआई, एएफपी, रॉयटर्स, डीपीए)

DW.COM

WWW-Links