1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

घाना को घनघना कर उरुग्वे सेमीफाइनल में

वर्ल्ड कप में घाना को क्वार्टर फाइनल तक पहुंचाने वाले स्टार खिलाड़ी गियान मैच के अंतिम क्षणों में पेनल्टी से गोल का आसान मौका चूके. बाद में हुए पेनल्टी शूट आउट में उरुग्वे ने घाना को 4-2 से हराकर बाहर किया.

default

हार से टूटा सपना

एक्स्ट्रा टाइम के आखिरी मिनट में घाना ने उरुग्वे के गोल पोस्ट पर जोरदार हमला किया. उरुग्वे के डिफेंडर सुआरेज ने गेंद को हाथ से रोका और घाना को पेनल्टी मिली. स्कोर 1-1 था और घाना के पास जीतने का मौका. पेनल्टी घाना के स्टार खिलाड़ी गियान ने ली. टूर्नामेंट में घाना को यहां तक लाने वाले गियान चूक गए. उन्होंने गेंद को गोल पोस्ट के ऊपर मार दिया.

इसके बाद पेनल्टी हुई. पांच पांच शूट दोनों टीमों को मिले. पहली बारी उरुग्वे के स्ट्राइकर डियागो फोरलान को मिली. फ्री किक के एक्सपर्ट फोरलान ने बिना किसी गलती के घाना के गोलकीपर को बेहतरीन गोल का दर्शक बना दिया. घाना की ओर से गियान ने पहला गोल किया. उरुग्वे ने दूसरा और तीसरा गोल किया.

Flash-Galerie Fußball WM 2010 Südafrika Viertelfinale Uruguay vs Ghana

घाना के तीसरे हमले को उरुग्वे के गोलची फर्नांडो मुस्लेरा ने बचा लिया. घाना यहीं 3-2 से पीछे हो गया. अगली किक में उरुग्वे के खिलाड़ी के गेंद बाहर मार दी और अफ्रीकी टीम को फिर वापसी का मौका मिला. लेकिन इस बार भी मुस्लेरा ने दीवार का काम किया. चौथा गोल उरुग्वे ने बड़ी आसानी से किया और टीम ने 40 साल बाद सेमीफाइनल में दस्तक दी.

Flash-Galerie Fußball WM 2010 Südafrika Viertelfinale Uruguay vs Ghana

इससे पहले 120 मिनट के खेल तक दोनों टीमें एक-एक की बराबरी पर थीं. हालांकि घाना ने पहले हाफ में गोल दागकर बढ़त हासिल कर ली थी. लेकिन दूसरे हाफ में फोरलान की शानदार फ्री किक ने हिसाब चुकता कर दिया. मैच एक्स्ट्रा टाइम तक खिंचा लेकिन फैसला तब भी नहीं हो सका और उसके बाद पेनल्टी शूट आउट हुआ.

31 साल के फोरलान ने साबित कर दिया कि उन्हें उरुग्वे के लिए तुरुप का इक्का क्यों कहा जाता है. बहरहाल अब उरुग्वे सेमीफाइनल में है. यहां उसका मुकाबला छह जुलाई को नीदरलैंड्स से होगा.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: एस गौड़

संबंधित सामग्री