1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

ग्रीस में पाकिस्तानी की हत्या

एथेंस में हुए प्रदर्शनों में एशियाई मूल के लोगों, फुटबॉल प्रशसंकों और नस्लवाद का विरोध करने वाले संगठनों ने हिस्सा लिया. पाकिस्तान के एक युवक की ग्रीस में हत्या कर दी गई है और आरोप है कि नस्ली झगड़े में उसकी जान गई.

शनिवार सुबह 150 लोग एथेंस में मृतक के शव के साथ शहर के बीचों बीच जमा हुए. ताबूत के साथ सिटी हॉल के सामने प्रदर्शन करते लोगों ने दोषियों को कड़ी सजा देने की मांग की. प्रदर्शन में ग्रीस के लोगों ने भी हिस्सा लिया. प्रदर्शनकारियों के हाथ में ग्रीक और अंग्रेजी के बैनर थे. बैनरों में "शहजाद लुकमान के फासिस्ट हत्यारों को सजा दो" लिखा था.

27 साल के पाकिस्तानी नागरिक शहजाद लुकमान की गुरुवार को चाकू मार कर हत्या कर दी गई. पुलिस ने दो युवकों को गिरफ्तार किया है. प्रशासन ने युवकों के घर पर छापा मारा. आरोपियों के घर से कट्टर दक्षिणपंथी गोल्डन डॉन पार्टी के पर्चे मिले. अधिकारियों को शक है कि शहजाद की हत्या नस्लवादी नफरत के चलते की गई.

जांच से मिले शुरुआती संकेतों के बाद शनिवार को एथेंस में प्रदर्शन हुए. सुबह हुए प्रदर्शनों को स्थानीय समुदाय ने भी समर्थन दिया. कई संगठनों, कई यूनियनों, नस्लवादी विरोधी गुटों और फुटबॉल प्रेमियों ने दोपहर बाद बड़ी रैली का एलान किया. इन सभी ने आम लोगों ने नस्लवादी नफरत के खिलाफ आयोजित होने वाली रैली में हिस्सा लेने की अपील की. प्रदर्शन के बाद शनिवार शाम शहर के सिनटग्मा चौराहे पर एक कंसर्ट भी किया जा रहा है.

2008 की विश्वव्यापी मंदी के बाद ग्रीस के आर्थिक हालात बुरी तरह डोल चुके हैं. देश में भारी बेरोजगारी है. 26.8 फीसदी बेरोजगारी दर की मार सबसे ज्यादा युवाओं पर पड़ी है. ज्यादातर उद्योग धंधे चौपट हो चुके हैं. बीते साल देश ने सरकारी खर्च में भारी कटौती करने के कड़े फैसले किए.

मंदी के बाद से ग्रीस में अपराध बढ़े हैं. पढ़े लिखे युवा यूरोपीय संघ के दूसरे देशों में जाकर छोटी मोटी नौकरियां कर रहे हैं. बड़ी संख्या में युवा अवैध तरीके से तुर्की में भी घुस रहे हैं. ग्रीस की पुलिस भी मान रही है कि आर्थिक संकट की वजह से बीते दो-तीन साल में अचानक अपराध बहुत ज्यादा बढ़ गए हैं. इनमें छीना-झपटी, धोखाधड़ी और लूट के मामले सबसे ज्यादा है.

ओएसजे/एजेए (एएफपी)

DW.COM