1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

ग्रीस के कर्ज संकट से जूझता यूरोप

ग्रीस को यूरोजोन में बचाने के लिए एक आखिरी कोशिश में ईयू के नेता ब्रसेल्स में मिले. जहां एक ओर ग्रीस की प्रतिबद्धता के लिए सराहना का रुख था वहीं ग्रीस के कर्ज चुकाने की योजनाओं को लेकर उत्साह की कमी दिखी.

ब्रसेल्स में हुई आपात शिखर वार्ता में यूरोजोन के नेता एथेंस को बचाने के लिए ग्रीस के साथ जमानती डील होने की उम्मीद कर रहे थे, ताकि कर्ज न चुका पाने की स्थिति में 30 जून को ग्रीस के यूरोजोन से बाहर निकलने की संभावना को टाला जा सके. चर्चा के दौरान इस मुद्दे पर टाल मटोल ही होती रही कि ग्रीस से भारी भरकम कर्ज कैसे वसूला जाए. कर्ज के बारे में सवाल किए जाने पर यूरोपीय कमीशन के प्रमुख जाँ क्लोद युंकर ने कहा, "यह चर्चा का सही समय नहीं था."

मैर्केल को उम्मीद

ब्रसेल्स में हुई शिखर वार्ता के बाद ग्रीस के कर्ज संकट पर जवाब देने से जर्मनी भी बचता दिखाई दिया. जर्मन चांसलर अंगेला मैर्केल ने कहा कि "यह सवाल वाद विवाद के लिए नहीं खुला था." साथ ही उन्होंने कहा कि किसी नतीजे पर पहुंचने के लिए अभी भी कई दिन बाकी हैं.

मैर्केल ने एक ओर कहा, "ग्रीस की ताजा योजना भविष्य में बातचीत के लिए अच्छी शुरुआत हो सकती है." साथ ही यह भी स्पष्ट है कि इस दिशा में अभी बहुत मेहनत किए जाने की जरूरत है. उन्होंने कर्ज में कमी की भी संभावना से इनकार किया, जिसकी ग्रीस ने मांग की है. उन्होंने कहा फिलहाल नेताओं के बीच ग्रीस की जमानत को बढ़ाने के बारे में कोई चर्चा नहीं हुई है.

लेकिन जर्मनी के वित्त मंत्री वोल्फगांग शाउब्ले इस नजरिए को लेकर खासे नकारात्मक लगे. उन्होंने पत्रकारों से कहा कि उन्हें ग्रीस की ओर से कुछ नया देखने को नहीं मिला.

EU Griechenland Schuldenkrise Tsipras mit Juncker

सिप्रास और युंकर

ग्रीस के बाहर निकलने की संभावना
यूरोपीय परिषद के अध्यक्ष डोनाल्ड टुस्क आपातकालीन शिखर सम्मेलन की अध्यक्षता कर रहे थे. शिखर सम्मेलन में यूरोजोन के 19 सदस्य देशों के नेताओं ने हिस्सा लिया. टुस्क ने ग्रीस के प्रस्ताव को "आगे की ओर एक सकारात्मक कदम" बताया. ग्रीस के प्रधानमंत्री अलेक्सिस सिप्रास ने अगले दो सालों में टैक्स बढ़ाकर और कठोर कदम उठाकर 8 अरब यूरो इकट्ठा करने का प्रस्ताव रखा था, जो कि उनके चुनाव के दौरान किए गए वादों के खिलाफ जाएगा. लेकिन साथ ही उन्होंने यूरोप की ओर से और आश्वासन की उम्मीद जताई.

यूरोजोन से बाहर निकलना ग्रीस वालों के लिए तकलीफदेह होगा जिनकी अर्थव्यवस्था पिछले कई सालों से उबर नहीं पा रही है. लेकिन कई यूरोपीय देशों ने सार्वजनिक तौर पर यह कहा है कि वे ग्रीस के यूरोजोन से बाहर निकलने की संभावना को लेकर तैयार हो रहे हैं. अगर कोई समझौता नहीं होता है तो ग्रीस अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष को 30 जून तक 1.6 अरब यूरो चुकाने में विफल हो जाएगा.

यूरोग्रुप के अध्यक्ष जोरियन डाइसेलब्लूम ने कहा, "अगले कुछ दिनों में हम ग्रीस की सरकार के साथ मेहनत करेंगे कि इस हफ्ते डील हो जाए." उन्होंने कहा कि वित्त मंत्री तब तक कोई फैसला नहीं ले सकते हैं जब तक ग्रीस उससे ऋण देने वाले यूरोपीय कमीशन, यूरोपीय सेंट्रल बैंक और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष के साथ विस्तृत जानकारी साझा नहीं करता है.

एसएफ/एमजे (एएफपी,एपी)

संबंधित सामग्री