1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

ग्रीक संकट पर यूरोप का भविष्य निर्भर: चांसलर

जर्मन चांसलर अंगेला मैर्केल ने आर्थिक संकट से निबटने के लिए ग्रीस को दी जा रही अरबों यूरो की मदद को उचित ठहराया है और कहा है कि ग्रीक संकट के समाधान पर यूरोप का भविष्य निर्भर है.

default

चांसलर अंगेला मैर्केल

बुधवार को जर्मन संसद के निचले सदन बुंडेसटाग में एक सरकारी बयान में चांसलर मैर्केल ने कहा, "यूरो एक चौराहे पर खड़ा है." उन्होंने यूरो की सुरक्षा के लिए स्थिरता संधि और यूरोपीय संघ के समझौतों में संशोधन की मांग की. उन्होंने कहा, "दाव पर यूरोप का भविष्य और यूरोप में जर्मनी का भविष्य है."

यूरोपीय देश और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ग्रीस को अगले तीन वर्षों में 110 अरब यूरो का कर्ज़ देंगे. यूरो क्षेत्र के देश 80 अरब यूरो जुटाएंगे जबकि बाकी 30 अरब अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष देगा. इसमें जर्मनी का हिस्सा 22.4 अरब यूरो होगा. जर्मनी की ओर से यह राशि सरकारी बैंक केएफ़डब्ल्यू मुहैया कराएगा. चांसलर ने कहा, "इस कर्ज़ के लिए गारंटी संघ सरकार दे रही है, जिसका मतलब है करदाता यानि कि हम सभी."

Müll auf den Straßen in Griechenland

सफ़ाई कर्मचारियों की हड़ताल

विपक्षी एसपीडी नेता फ़्रांक-वाल्टर श्टाइनमायर ने संसद में अपनी पार्टी के समर्थन का मामला खुला रखा, लेकिन चांसलर पर संकट के अकुशल प्रबंधन का आरोप लगाया. वामपंथी डी लिंके के संसदीय दल के नेता ग्रेगोर गिज़ी का कहना है कि सरकार वित्तीय क्षेत्र से टकराव से घबरा रही है तो ग्रीन पार्टी के नेता युर्गेन ट्रिटीन ने आरोप लगाया कि चांसलर की लंबी झिझक से जर्मनी, यूरोप और ग्रीस को बहुत धन गंवाना पड़ा है.

इस बीच जर्मन संघीय बैंक के प्रमुख आक्सेल वेबर ने ग्रीक अर्थव्यवसस्था को बचाने के लिए जर्मनी की अरबों की मदद को तर्कसंगत बताया है. उन्होंने कहा, "वर्तमान नाजुक स्थिति में ग्रीस का अपनी देनदारियों का भुगतान न कर पाना मुद्रा संघ और वित्तीय व्यवस्था के स्थायित्व के लिए गंभीर जोखिम होगा." बेवर का कहना है कि महत्वपूर्ण यह है कि ग्रीस को 110 अरब यूरो की सहायता कठोर शर्तों के साथ जुड़ी हो और हर तीन महीने पर ग्रीस के बचत प्रयासों की जांच हो.

NO FLASH Griechenland Generalstreik

हड़ताल के कारण उड़ानें रद्द

उधर ग्रीस में बुधवार सुबह सरकार के व्यापक बचत कार्यक्रम के ख़िलाफ़ देशव्यापी हड़ताल शुरू हुई है. ट्रेड यूनियन सूत्रों के अनुसार हड़ताल में देश भर में तीस लाख लोग शामिल होंगे और पूरा जनजीवन अस्तव्यस्त होने की आशंका है. मंगलवार मध्यरात्रि से एयर ट्रैफिक कंट्रोलर हड़ताल पर हैं. ग्रीस हवाई क्षेत्र बुधवार मध्यरात्रि तक बंद है. सुबह से बस और मेट्रो चालक हड़ताल कर रहे हैं. पिरेउस के बंदरगाह से कोई पोत बाहर नहीं निकला है. टैक्सी ड्राइवर सुबह 10 से चार बजे शाम तक विरोध प्रदर्शन करेंगे. सरकारी कर्मचारी मंगलवार से ही हड़ताल पर हैं. डॉक्टर सिर्फ़ इमरजेंसी मामलों में इलाज़ कर रहे हैं. रेडियो और टेलिविज़न पर समाचार नहीं आ रहे हैं क्योंकि पत्रकार भी 24 घंटे की हड़ताल में शामिल हैं.

बुधवार शाम राजधानी एथेंस में विरोध प्रदर्शन होगा जिसमें लाखों लोगों के भाग लेने की उम्मीद की जा रही है. प्रदर्शनकारियों का नारा है कि संकट का बोझ वे उठाएं जिंहोंने धन चुराया है, न कि आम लोग. दिवालिया होने के ख़तरे को रोकने के सरकारी कार्यक्रम में सरकारी सेवाओं में नई भर्ती पर रोक और वेतनों में कटौती के अलावा समाजिक भत्तों में कटौती शामिल है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/महेश झा

संपादन: राम यादव

संबंधित सामग्री