1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

ग्राफित के सिर ने किया कमाल, वोल्फ्सबुर्ग की जीत

वोल्फ्सबुर्ग के कोच रविवार को ब्राजील के स्ट्राइकर ग्राफित का माथा चूमने को बेकरार होंगे. उनके इस माथे ने दो गोल दागकर वोल्फ्सबुर्ग को फ्राइबुर्ग पर शानदार जीत दिलाई. फ्राइबुर्ग ने एक गोल करके मुकाबला करने की कोशिश की.

default

वोल्फ्सबुर्ग की यह तीसरी लगातार जीत है. हालांकि उनकी शुरुआत बहुत खराब हुई थी. टीम पहले तीनों मैच हार गई थी, लेकिन अब वे किसी के रोके नहीं रुक रहे हैं. 2009 के चैंपियन अब पिछले छह मैचों में नौ अंक जुटाकर छठे स्थान पर पहुंच गए हैं. माइंत्स 18 अंकों के साथ सबसे ऊपर है.

रविवार को खेले गए मैच में फ्राइबुर्ग के कोच ग्राफिच के दोनों गोलों से नाखुश दिखे. उनकी शिकायत थी कि पहले गोल में ग्राफित ने फाउल किया जबकि दूसरा गलत जगह से फ्री किक लगाकर किया गया. ग्राफित ने पहला गोल 25वें मिनट में किया, जब उन्होंने अपने साथी ब्राजीलियाई डिएगो की फ्री किक को सिर अड़ाकर गोल में बदल दिया.

लेकिन 11 मिनट बाद फ्राइबुर्ग के सिजे ने इसे बराबर कर दिया. यह टूर्नामेंट में उनका छठा गोल था. लेकिन उन्हें जब दूसरे हाफ में एक और गोल करने का मौका मिला तो वह चूक कर बैठे. उन्हें 12 मीटर से गेंद को गोल पोस्ट में डालना था लेकिन करामाती पांव चूक गए. यह चूक फ्राइबुर्ग को भारी पड़ी क्योंकि उसके बाद उन्हें गोल करने का कोई और मौका नहीं मिला.

64वें मिनट में ग्राफित का सिर एक बार फिर हवा में घूमती गेंद के रास्ते में आया और गोल की तरफ मोड़ गया. गेंद सीधी गोल पोस्ट के भीतर चली गई.

मैच के बाद फ्राइबुर्ग के कोच रॉबिन दत्त ने कहा, "'फाउल तो टच लाइन पर हुआ लेकिन फ्री किक पर पूरा शक है. यह पिच के पांच मीटर भीतर से ली गई."

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः महेश झा

DW.COM

WWW-Links