1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

गोल्ड के बावजूद मिला जुला रहा दिन

बिलियर्ड्स एकल मुकाबले में स्टार खिलाड़ी पंकज आडवाणी ने भारत के लिए पहला गोल्ड जीता जबकि निशानेबाजों ने रजत और कांस्य पर निशाना लगाया. लेकिन इनके अलावा भारत को खुश होने के ज्यादा मौके नहीं मिल पाए.

default

ग्वांगजो में 16वें एशियन खेलों में पंकज आडवाणी ने अपना दबदबा बरकरार रखते हुए म्यांमार के ने थ्वे को 3-2 से हरा दिया. भारत के पास अब 1 गोल्ड, 3 सिल्वर और 1 कांस्य पदक है और वह पदक तालिका में पांचवे स्थान पर है. चीन फिलहाल पदक तालिका में राज कर रहा है और 36 गोल्ड मेडल के साथ पहले स्थान पर बना हुआ है. दक्षिण कोरिया के पास 13 और जापान ने 8 गोल्ड जीते हैं.

भारतीय निशानेबाजों ने एक बार फिर भारत के खाते में पदक दर्ज करवाए. हिना सिद्धू, अनु राज सिंह और सानिया राय ने महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल टीम इवेंट में सिल्वर मेडल जीता. विजय कुमार ने पुरुष 10 मीटर एयर पिस्टल में कांस्य

Asienspiele Asian Games Speerwurf

पदक अपने नाम किया. भारत की पुरुष टेनिस टीम ने भी कांस्य पदक पक्का कर लिया है और सेमीफाइनल में जगह बना ली है. उसकी भिडंत पहली वरियता प्राप्त चीनी ताइपे से होगी.

इन सफलताओं को छोड़ दें तो वेटलिफ्टिंग, जूडो, तैराकी, साइक्लिंग और ट्रायथलॉन में भारत को निराशा का मुंह दी देखना पड़ा. वेटलिफ्टिंग में रुस्तम सारंग और ओमकार ओतारी पुरुषों के 62 किलोग्राम वर्ग में 9वें और 11वें स्थान पर आए.

भारतीय तैराकों ने फिर निराश किया और रेहान पोंचा और वीरधवल खाड़े पुरुष 100 मीटर बटरफ्लाई इवेंट के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाए. क्वालीफाइंग मुकाबले में पोंचा छठे स्थान पर ही आ सके जबकि खाड़े को आठवें स्थान पर संतोष करना पड़ा.

तैराकी में 200 मीटर फ्रीस्टाइल इवेंट से भारत के लिए बुरी खबर आई. हवलदार रोहित राजेंद्र और आरुन एग्नेल डिसूजा फाइनल में जगह नहीं बना सके. साइक्लिंग में ओकराम बिक्रम सिंह और हेलम प्रिंस पुरुष स्प्रिंट क्वार्टर फाइनल के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाए.

हैंडबॉल मुकाबलों में भारत को लगातार दूसरे मैच में हार का मुंह देखना पड़ा. कतर ने ग्रुप ए के मैच में उसे 37-28 से हराया. अब भारत के लिए सेमीफाइनल में पहुंचना मुश्किल होगा. पहले मैच में उसे चीन ने 41-21 से पटखनी दी थी.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: एमजी

DW.COM