1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

गिलानी को संबंध सुधरने की उम्मीद

भारतीय विदेश मंत्री एसएम कृष्णा की पाकिस्तान यात्रा से कोई नतीजा नहीं निकलने के बाद दोनों पक्षों की ओर से एकबार फिर समझौते के संकेत दिख रहे हैं. युसूफ़ गिलानी ने मनमोहन सिंह के साथ टेलीफोन पर बात की है.

default

मनमोहन सिंह और युसूफ रजा गिलानी

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के दफ्तर से जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ टेलीफोन पर हुई एक बातचीत में यूसुफ रजा गिलानी ने कहा है कि पाकिस्तान भारत के साथ दोस्ताना संबंध चाहता है. उन्होंने भारत के साथ मैत्री, सहयोग व अच्छे पड़ोसी संबंधों के लिए अपनी इच्छा पर बल दिया.

गिलानी ने आशा व्यक्त की है कि भारत और पाकिस्तान के बीच संवाद सियाचिन और कश्मीर सहित सभी जुड़े विषयों पर सार्थक और व्यापक रूप से आगे बढ़ेगा. उन्होंने इस सिलसिले में अप्रैल में दोनों प्रधानमंत्रियों के बीच भूटान की राजधानी थिंपू में हुई सहमति का जिक्र किया.

भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने गिलानी को फोन किया और उन्होंने भयानक बाढ़ से निपटने में पाकिस्तान की और अधिक मदद करने की पेशकश की. इससे पहले पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अब्दुल बासित ने कहा था कि उनका देश बातचीत फिर से शुरू करने के लिए किसी शर्त को स्वीकार करने को तैयार नहीं. पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की स्थिति बिल्कुल स्पष्ट है. वह भारत और पाकिस्तान के बीच संवाद की प्रक्रिया को फिर से शुरू करने के लिए पहले से तय की गई शर्तों पर राजी नहीं होगा.

15 जुलाई को दोनों देशों के बीच अविश्वास के माहौल को पाटने के लिए इस्लामाबाद में दोनों देशों के विदेश मंत्रियों की बातचीत हुई. लेकिन इसमें किसी नतीजे पर नहीं पहुंचा जा सका.

रिपोर्ट: पीटीआई/उभ

संपादन: वी कुमार

DW.COM