1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

गिलक्रिस्ट के दावे में दम नहीं है: निरंजन शाह

एडम गिलक्रिस्ट के दावों को खारिज करते हुए आईपीएल के वाइस चेयरमैन निरंजन शाह ने कहा है कि धन की अकूत बरसात करने वाला आईपीएल-3 पारदर्शी तरीके से खेला गया है. गिलक्रिस्ट ने कहा है कि आईपीएल में मैच फिक्सिंग करना आसान है.

default

राजकोट में निरंजन शाह ने पत्रकारों को बताया कि आईपीएल के सभी मैच निष्पक्ष और पारदर्शी तरीके से खेले गए हैं. मैच फिक्सिंग के कोई सबूत नहीं मिले हैं और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद की भ्रष्टाचार विरोधी टीम ने भी आईपीएल-3 को क्लीन चिट दे दी है.

Kricket-WM - Australien erneut Weltmeister Adam Gilchrist

निरंजन शाह के मुताबिक आईपीएल और बीसीसीआई आईपीएल मैचों को साफ सुथरे और भ्रष्टाचार से दूर माहौल में कराना चाहती है. निरंजन ने हैरानी जताई कि आखिर किस वजह से एडम गिलक्रिस्ट ने ऐसा बयान दिया है.

"मुझे लगता है कि कुछ खिलाड़ियों की बुरी आदत होती है कि वे हर बात पर टिप्पणी करते हैं, तब भी अगर मुद्दे पर उनकी जानकारी कम हो. बिना यह सोचे कि वे क्या कह रहे हैं, वे टिप्पणी करने के लिए टिप्पणी कर ही डालते हैं." आईपीएल में कड़े नियम और मैच फिक्सिंग रोकने की बीसीसीआई की कोशिशों का हवाला देते हुए निरंजन शाह ने भरोसा दिलाने की कोशिश की है कि गिलक्रिस्ट के दावों में दम नहीं है.

"हम आईसीसी के भ्रष्टाचार विरोधी टीम को नियुक्त करते रहे हैं और आने वाले सीजन में भी उन्हें नियुक्त करेंगे. भारतीय क्रिकेट बोर्ड मैच फिक्सिंग को जरा भी सहन नहीं कर सकता. हमारी कोशिश है कि आईपीएल को भ्रष्टाचार के साए से मुक्त रखा जाए और मुझे नहीं पता कि गिलक्रिस्ट अपने बयान के जरिए क्या कहना चाहते हैं."

शाह की यह प्रतिक्रिया गिलक्रिस्ट के इंटरव्यू के एक दिन बाद आई है जिसमें उन्होंने कहा कि आईपीएल खिलाड़ियों में नियमित रूप से मैच फिक्सिंग के साए की चर्चा होती थी.

एक अंग्रेजी अखबार से इंटरव्यू में आईपीएल में डेक्कन चार्जर्स के कप्तान एडम गिलक्रिस्ट ने कहा था कि मैच फिक्स करने वालों के लिए आईपीएल एक आसान निशाना है क्योंकि आईपीएल के आयोजन के दौरान खिलाड़ियों तक पहुंचा जा सकता है. "आईपीएल में खिलाड़ियों के बीच इस पर बातें हो चुकी हैं.

अगर कोई यह सोचे कि ऐसा नहीं हो रहा तो फिर यह बचकानी बात होगी. बहुत आसानी से मैच फिक्स किए जा सकते हैं. आईपीएल अपने शुरुआती दिनों में है और खिलाड़ियों तक पहुंचना मुश्किल नहीं है."

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: महेश झा

संबंधित सामग्री