1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

गायक की हत्या के बाद गांव से भागे मुसलमान

मुसलमान लोक गायक की हत्या के बाद राजस्थान के एक गांव से कम से कम 200 मुसलमान पलायन कर गये हैं. गायक की हत्या का आरोप एक हिंदू पुजारी और उनके साथियों पर है.

Irak Flüchtende Familie in Mossul (picture-alliance/AP Photo/M. Alleruzzo)

यह तस्वीर प्रतीकात्मक है.

राजस्थान के जैसलमेर जिले के दांतल गांव में लोक गायक अहमद खान एक धार्मिक कार्यक्रम में भजन गा रहे थे. पुलिस के मुताबिक पुजारी रमेश सूथार ने गायक के भजन में कुछ गलतियों को लेकर टोका जिसके बाद दोनों के बीच विवाद हो गया. 

अहमद खान लंगा मांगणियार समुदाय से ताल्लुक रखते थे, जो पीढ़ियों से हिंदुओं के धार्मिक कार्यक्रमों और मंदिरों में भजन गाते हैं. कार्यक्रम के दौरान पुजारी ने अहमद खान से भजन बदलने की बात कही, जिसे लेकर विवाद बढ़ गया. 

पुलिस ने कहा कि पुजारी रमेश सूथार और उसके साथियों ने अहमद खान के वाद्य यंत्र तोड़े और उसकी हत्या कर दी.

मामले की जांच कर रहे एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी गौरव यादव ने कहा, "हत्या की खबर से हिंदू और मुसलमान समुदायों के बीच तनाव पैदा हो गया, जो पीढ़ियों से यहां एक साथ रहते आए हैं.”

उन्होंने कहा कि रमेश सूथार ने यह नहीं बताया कि अहमद खान की हत्या कैसे की गई. हत्या में शामिल रमेश के साथी गांव छोड़ कर फरार हो गये हैं. रमेश के परिवार के दो लोगों का कहना है कि वह सदमे में था और घटना के बारे में किसी से भी बात करने को राजी नहीं था.

स्थिति को काबू में करने के लिए गांव में अर्धसैनिक बलों की टुकड़ी भेजी गयी है लेकिन उपद्रव के डर से मुसलमान अपने गांव लौटने को राजी नहीं हैं.

अहमद खान के रिश्ते में एक भाई रखा खान ने कहा, "एक छोटी सी गलती के लिए हिंदुओं ने मेरे भाई को मार दिया. हम उस गांव में फिर कभी नहीं रह रकते.”

उन्होंने बताया कि उन लोगों ने एक स्कूल में शरण ली है और सरकारी दफ्तरों और स्थानीय अधिकारियों की मदद से उन लोगों को खाना पहुंच रहा है.

एसएस/एनआर (रॉयटर्स)

DW.COM

संबंधित सामग्री