1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

गांगुली, गंभीर को आईपीएल में बाहर का रास्ता

जबरदस्त फॉर्म में चल रहे गौतम गंभीर और बंगाल टाइगर सौरव गांगुली को उनकी टीमों ने बाहर का रास्ता दिखा दिया, जबकि अनिल कुंबले और राहुल द्रविड़ का भी पत्ता कट गया. हालांकि सचिन, वीरू और धोनी अपनी टीमों में बने रहेंगे.

default

दादा को कोलकाता में ही जगह नहीं

दिल्ली डेयरडेविल्स ने तूफानी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग को तो टीम में बनाए रखा लेकिन फिलहाल टीम इंडिया की कप्तानी कर रहे गौतम गंभीर को बाहर का रास्ता दिखा दिया. उन्हें 2011 और 2012 के सत्रों के लिए टीम में नहीं रखा गया है और अगले महीने उनकी बोली लगाई जा सकेगी. उन्हें कोई भी टीम खरीद सकती है.

हैरान करने वाला फैसला शाहरुख खान की कोलकाता नाइट राइडर्स का भी रहा. पहले सीजन में कप्तानी करने वाले सौरव गांगुली को टीम में नहीं रखा गया है. उन्हें बिकने के लिए बाजार में निकाल दिया गया है. सौरव गांगुली को टीम में रखने पर पहले भी काफी बवाल हो चुका है. पहले सत्र में कप्तानी करने के बाद उन्हें दूसरे साल कप्तानी से हटा दिया गया. कोलकाता ने आईपीएल में लगातार बेहद खराब प्रदर्शन किया है और ज्यादातर वक्त सबसे नीचे की टीमों में रहा है.

Der indische Cricketspieler Gautam Gambhir

गंभीर को दिखाया गया बाहर का रास्ता

भारत के दो पूर्व कप्तानों राहुल द्रविड़ और अनिल कुंबले पर भी आफत आई है. द्रविड़ और दो बार से टीम की कप्तानी कर रहे कुंबले को रॉयल चैलेंजर्स ने टीम में नहीं रखने का फैसला किया है और 8-9 जनवरी को लगने वाली बोली में उनकी बोली लग सकती है. हालांकि बैंगलोर ने हैरान करने वाला फैसला करते हुए विराट कोहली को टीम में बनाए रखने का फैसला किया है.

आईपीएल नियमों के तहत कुल चार खिलाड़ियों को टीम में बनाए रखा जा सकता है, जबकि बाकी को बाजार के लिए फ्री करना होता है. मुंबई और चेन्नई ने चार चार खिलाड़ियों को टीम में बनाए रखा. चेन्नई में धोनी, रैना, मुरली विजय और मोर्केल बने रहेंगे, जबकि मुंबई में सचिन के अलावा भज्जी, लसित मलिंगा और किरन पोलार्ड बने रहेंगे.

नियमों के मुताबिक सभी टीमों को नए खिलाड़ियों की खरीद के लिए कुल 90 लाख डॉलर की राशि उपलब्ध होगी. लेकिन कुछ खिलाड़ियों को टीम में बनाए रखने के बाद बैंगलोर और दिल्ली के पास करीब 72 लाख डॉलर बचे हैं, जबकि मुंबई के पास 59 लाख और चेन्नई के पास मात्र 45 लाख डॉलर. 2011 में वनडे विश्व कप खत्म होने के कुछ ही दिनों बाद भारत में आईपीएल खेला जाएगा.

रिपोर्टः पीटीआई/ए जमाल

संपादनः ए कुमार

DW.COM

WWW-Links