1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

गलत आरोप में सजा काटने पर 2.4 करोड़ डॉलर का हर्जाना

वे अमेरिका में दशकों तक जेल में कैद रहे. अब एक जज ने माना है कि उन्हें अवैध रूप से हिरासत में रखा गया, इसलिए उन्हें 2.4 करोड़ डॉलर का हर्जाना मिलना चाहिए.

लॉस एंजेलेस की सिटी काउंसिल उन दो लोगों को 2.43 करोड़ डॉलर का हर्जाना देने को राजी हो गई जिन्हें आरोपों से बरी किए जाने से पहले दशकों तक जेल में रखा गया था. सिटी काउंसिल ने कैश रजिस्टर को 1.67 करोड़ डॉलर और ब्रूस लिस्कर को 76 लाख डॉलर हर्जाने का भुगतान करने का फैसला किया. दोनों ने नगर प्रशासन पर एक जैसे लेकिन अलग अलग केस किए थे और पुलिस के काम करने को चुनौती दी थी जिसकी वजह से उन्हें जेल भेजा गया था.

कैश रजिस्टर को पश्चिमी लॉस एंजेलेस में एक डकैती के दौरान 78 वर्षीय व्यक्ति की गोली मार कर हत्या करने का दोषी पाया गया और वह 34 साल जेल में रहा. 2013 में एक जज ने रजिस्टर की सजा को यह कहकर पलट दिया कि पुलिस ने एक गवाह की बहनों के बयान को नजरअंदाज कर दिया जिनका कहना था.

Zu Unrecht Verurteilter Bruce Lisker

ब्रूस लिस्कर

वहीं लिस्कर ने अपनी 66 साल की मां की छूरा भोंककर हत्या करने के आरोप में 26 साल कैद काटी. उसे 2009 में रिहा किया गया.फैसले के बाद लिस्कर ने कहा कि यह बहुत ही खुशी का दिन है. उन्होंने कहा कि शहर ने उनका पुनर्वास कर दिया है और आखिरकार उन सब बातों को मान लिया है "जो मैं हमेशा से कह रहा था कि सच है, कि मैं निर्दोष हूं और पुलिस ने17 साल की उम्र में मेरी मां की हत्या का आरोप मेरे ऊपर मढ़ दिया था." लिस्कर ने कहा कि उनकी लंबी तकलीफ की कीमत नहीं लगाई जा सकती. "कोई कैसे चुराई गई आजादी, खंडित उम्मीदों और तहस नहस की गई छवि वाली जिंदगी की कीमत पैसे में लगा सकता है?" इतना ही नहीं लिस्कर की मां के हत्यारे के बारे में अब भी कोई जानकारी नहीं है.

एमजे/आईबी (एपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री