1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

गर्मी की वजह से छोटी होंगी फ्रेंच फ्राइज

इस साल जर्मनी में आलू से बनने वाले फ्रेंच फ्राइज का आकार पहले से छोटा होगा. इसकी वजह है यहां पड़ी तेज गर्मी. जर्मनी के किसानों की एसोसिएशन का कहना है कि गर्मी ने आलू को छोटा कर दिया है.

default

आलू नहीं तो फ्रेंच फ्राई नहीं

यूरोप के बड़े हिस्से में इस साल काफी गर्मी पड़ी. इस वजह से ज्यादातर लोग तौबा तौबा करते नजर आए. लेकिन मौसम बदल रहा है और लगता है अब गर्मी से पीछा छूट गया है. हालांकि फ्रेंच फ्राइज के चाहने वालों को इसका असर देर तक झेलना होगा.

दरअसल गर्मी की वजह से आलूओं का आकार छोटा रह गया है. इसलिए उनसे बनने वाली फ्रेंच फ्राइज भी छोटी होंगी. जर्मन फार्मर्स एसोसिएशन की प्रवक्ता वेरेना ने कहा, “फ्रेंच फ्राइज इंडस्ट्री और इसे पसंद करने वालों को छोटी फ्रेंच फ्राइज के लिए तैयार रहना होगा. इस बार पैदा हुए आलुओं को देखते हुए इसका आकार 45 मिलीमीटर यानी करीब 1.8 इंच ही होगा.” आमतौर पर फ्रेंच फ्राइज 2.2 इंच तक लंबी होती हैं.

जर्मनी में हर साल 110 लाख टन आलू पैदा होते हैं. इसका 10 फीसदी हिस्सा फ्रेंच फ्राइज बनाने में इस्तेमाल होता है. यानी साल भर में जर्मनी के लोग 11 लाख टन आलू फ्रेंज फ्राइज के रूप में खा जाते हैं.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः ओ सिंह