1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

गरीबी से जूझती मां ने बेचा ओबामा का हाथ लिखा खत

एक अमेरिकी महिला ने यादगार के तौर पर समेट कर रखे ओबामा के हाथ लिखे खत को 7000 अमेरिकी डॉलर में बेच दिया. वो इन पैसों से अपने लिए घर का इंतजाम करना चाहती है.

default

ओबामा ने इस खत में लिखा था कि जल्दी ही हालात बेहतर होंगे, हालात तो बदले नहीं मुसीबत और बढ़ती देख जेनिफर ने इस खत को ही बेचने का फैसला कर लिया. 28 साल की जेनिफर क्लाइन दो बच्चों की मां है. जेनिफर पहले फार्मेसी टेक्नीशियन के रूप में काम करती थीं लेकिन वो 2007 से ही बेरोजगार हैं.

जेनिफर त्वचा के कैंसर से भी जूझ रही हैं.जेनिफर ने अपनी बदहाल स्थिति का विस्तार से जिक्र करते हुए राष्ट्रपति ओबामा को खत लिखा. इसी साल जनवरी में उसे राष्ट्रपति की तरफ से दो लाइन में लिखा खत का जवाब मिला. एक न्यूज चैनल से बातचीत में जेनिफर ने कहा कि वो और उनके पति एक घर खरीदना चाहते हैं. फिलहाल कागज के इस टुकड़े से ज्यादा कीमती उनके लिए घर है. जेनिफर के पति ने डेट्रॉयट न्यूज को बताया कि उनकी पत्नी अभी भी बराक ओबामा का समर्थन करती हैं और उनका भरोसा नहीं टूटा है.

जेनिफर से ये खत एक ऑटोग्राफ जमा करने के शौकिन शख्स ने खरीदा है. उसे उम्मीद है कि वो अगर चाहे तो इसके जरिए 18 हजार अमेरिकी डॉलर की कमाई कर सकता है.

हाल के दिनों में ओबामा पर अमेरिकीयों का भरोसा लगातार कम हुआ है. हाल ही में हुए एक सर्वे में पता चला कि ओबामा को वोट देने वाले एक चौथाई लोगों ने अब रिपब्लिकन पार्टी को वोट देने का फैसला किया है. हालांकि ओबामा का दावा है कि जो वादे उन्होंने राष्ट्रपति बनने से पहले किए उन्हें अब भी पूरा किया जा सकता है.

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः उज्ज्वल भट्टाचार्य

DW.COM

WWW-Links