1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

गज़ा तट पर चार फ़लीस्तीनी चरमपंथियों की हत्या

मध्य पूर्व में शांति प्रक्रिया में गति लाने के लिए आज अमेरिकी उपराष्ट्रपति जो बाइडेन मिस्र के राष्ट्रपति होसनी मुबारक से मिल रहे हैं. इस बीच इस्राएली नौसेना ने गज़ा के तट पर चार फ़लीस्तीनी चरमपंथियों की हत्या कर दी है.

default

इस्राएली नौसेना की एक टुकड़ी को गज़ा के तट के सामने गोताखोरों की पोशाक में यह फलीस्तीनी मिले. सेना का कहना है कि इस्राएल पर हमले रोकने के लिए उन पर गोली चलाई गई. फ़लीस्तीनी स्वास्थ्य अधिकारी मोआविया हसनैन ने ख़बर दी है कि उनके एक बचाव दल को गोताखोरों की पोशाक में चार लाशें मिली. गज़ा में पत्रकारों के भेजे गए एक संदेश में चरमपंथी अल-अक्सा शहीद ब्रिगेड की ओर से कहा गया है कि मारे गए चारों फ़लीस्तीनी उनके नौसैनिक इकाई के सदस्य थे.

अमेरिकी उपराष्ट्रपति जो बाइडेन इस समय मिस्र की यात्रा पर हैं. रविवार को वे शर्म अल-शेख पहुंचे, और आज मिस्र के राष्ट्रपति होसनी मुबारक से बात करने वाले हैं. उनके साथ ह्वाइट हाउस के कई उच्च अधिकारी और राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के सदस्य आए हुए हैं. रविवार को इस्राएली नौसेना के पिछले हफ़्ते के हमले की आलोचना करते हुए मिस्र के विदेश मंत्री अहमद अबुल गेइट ने कहा कि, इस्राएल को इसके लिए शर्मिंदा होना चाहिए. लेकिन साथ ही उन्होंने इस पर ज़ोर दिया कि इस हमले की वजह से फ़लीस्तीनियों और इस्राएल के बीच अप्रत्यक्ष बातचीत बंद नहीं होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि अप्रत्यक्ष बातचीत चल रही है और इन्हें रोकने से एक स्वतंत्र राज्य की स्थापना की फ़लीस्तीनी उम्मीदों को नुकसान पहुंचेगा.

लेकिन फ़लीस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास का कहना है कि बातचीत एक मुश्किल दौर में है. वे इस समय तुर्की में हैं. यहां से वे वाशिंगटन जाने वाले हैं, जहां अप्रत्यक्ष फ़लीस्तीनी-इस्राएली बातचीत के बारे में वे अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा से विचार विमर्श करेंगे.

रिपोर्ट: एजेंसियां/उभ

संपादन: ओ सिंह

संबंधित सामग्री