1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

गंभीर की यूथ ब्रिगेड का मुकाबला न्यूजीलैंड से

न्यूजीलैंड को टेस्ट सीरीज में हराने के बाद वनडे में भी परास्त करने के लक्ष्य से टीम इंडिया अपना पहला मैच गुवाहाटी में खेलेगी. भारत के स्टार खिलाड़ियों को आराम दिया गया है. कप्तानी की जिम्मेदारी गौतम गंभीर को सौंपी गई है.

default

गौतम के सामने गंभीर चुनौती

गौतम गंभीर आईपीएल में डेल्ही डेयरडेविल्स और दिल्ली रणजी टीम की कप्तानी कर चुके हैं लेकिन अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उनके लिए यह परीक्षा की घड़ी है. गंभीर का कहना है कि उनका सपना सच हो गया. "मैं रोमांचित महसूस कर रहा हूं. अपने देश का नेतृत्व करना किसी भी खिलाड़ी के लिए सपना सच होने जैसा होता है. मुझे उम्मीद है कि निजी रूप से और एक टीम के रूप में हम सफल होंगे. हम सीरीज जीतेंगे."

वर्ल्ड कप में अपना अभियान शुरू करने से पहले भारत घरेलू परिस्थितियों में आखिरी बार खेल रहा है. नए खिलाड़ियों के पास यह आखिरी मौका है कि वर्ल्ड कप से पहले वे अपनी क्षमता को साबित कर सकें. भारत को उम्मीद अपनी युवा ब्रिगेड से है. कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के अलावा सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग, जहीर खान और हरभजन सिंह को आराम दिया गया है.

वर्ल्ड कप से ठीक पहले भारत स्टार खिलाड़ियों को चोट लगने का खतरा मोल नहीं लेना चाहता है. सहवाग की गैरमौजूदगी में मुरली विजय सलामी बल्लेबाज की भूमिका में होंगे जबकि मध्यक्रम की जिम्मेदारी विराट कोहली, सुरेश रैना और युवराज सिंह पर होगी.

Flash-Galerie Vergabe Fußball Weltmeisterschaften 2018 und 2022

युवी पर खास तौर पर निगाहें होंगी क्योंकि युवराज हाल के समय में फॉर्म में नही रहे हैं और उनका कॉन्ट्रैक्ट का स्तर ए से घटाकर बी कर दिया गया. खुद को साबित करने के लिए युवराज एक बार अपने उसी टच में आना चाहते हैं जिसके लिए वह जाने जाते हैं और उन्हें मैचजिताऊ पारी की दरकार है. वर्ल्ड कप को ध्यान में रखते हुए चयनकर्ताओं ने यूसुफ पठान को भी टीम में शामिल किया है. यूसुफ ने घरेलू सत्र में बड़ौदा के लिए गेंद और बल्ले से कमाल दिखाया है.

ऑलराउंडर के रूप में भारतीय टीम में अपना खूंटा गाड़ने के लिए यूसुफ और रविन्द्र जडेजा में मुकाबला दिलचस्प रहेगा. पश्चिम बंगाल के विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा को धोनी के स्थान पर शामिल किया गया है. साहा टेस्ट क्रिकेट में अपना खाता खोल चुके हैं लेकिन गुवाहाटी में वह अपना पहला वनडे खेलेंगे. अनुभवी दिनेश कार्तिक के स्थान पर उन्हें टीम में लाया गया है.
नई गेंद की जिम्मेदारी श्रीसंत और आशीष नेहरा पर होगी जबकि हरभजन और प्रज्ञान ओझा की अनुपस्थिति में ऑफ स्पिनर आर अश्विन कीवियों की नाक में दम करने को बेताब हैं.

कीवियों के नजरिए से डेनियल वेटोरी की सेना टेस्ट सीरीज में भारत से हार का बदला लेना चाहेगी. वैसे न्यूजीलैंड वनडे में अपनी खोई धार को मजबूत करना चाहता है क्योंकि बांग्लादेश उसे 4-0 से शिकस्त दे चुका है. अपने अरमानों को पूरा करने के लिए न्यूजीलैंड के पास क्षमतावान खिलाड़ियों की कमी नहीं है. स्कॉट स्टायरिस, रॉस टेलर और डेनियल वेटोरी जैसे अनुभवी खिलाड़ी न्यूजीलैंड के दावे को मजबूती से भारत के सामने रखेंगे. लेकिन उन्हें जेसी राइडर की कमी जरूर खलेगी.

नेहरू स्टेडियम में सुबह के दौरान भारी कोहरा होता है और शाम 4 बजे के आस पास रोशनी धुंधली होने लगती है. इसके चलते मैच 8.30 बजे शुरू होगा. पिछले साल यहां भारत ऑस्ट्रेलिया के बीच मैच खेला गया जिसमें भारत ने पहले खेलते हुए महज 27 रन पर पांच विकेट खो दिए थे. भारत सिर्फ 170 रन ही बना पाया और ऑस्ट्रेलिया ने 6 विकेट से मैच जीत लिया.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: ए जमाल

DW.COM

WWW-Links