1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

खुशबू: डीएमके में शामिल, जया टीवी से बाहर

तमिलनाडु में डीएमके पार्टी में शामिल होने के कुछ ही समय बाद खुशबू को जया टीवी के गेम शो से बाहर का रास्ता दिखा दिया या है. जया टीवी में खुशबू जैकपॉट गेम शो की मेज़बान थीं. जया डीएमके की विपक्षी एआईएडीएमके का टीवी है.

default

मुख्यमंत्री करूणानिधि की विपक्षी जयललिता के जया टीवी ने खुशबू को यह झटका दिया है. जैकपॉट गेम शो के प्रोड्यूसर केपी सुनील ने टाइम्स ऑफ़ इंडिया अख़बार से बातचीत में पुष्टि की है कि खुशबू को हटा दिया गया है. डीएमके में शामिल होते समय खुशबू ने उम्मीद जताई थी कि वह जया टीवी में काम करती रहेंगी.

Parteivorsitzender der DMK Muthuvel Karunanidhi

करुणानिधि

इससे पहले समाचार एजेंसी पीटीआई ने रिपोर्ट दी थी खुशबू ने डीएमके के नेताओं के साथ दो राउंड की बातचीत कर ली है और आने वाले दिनों में डीएमके में शामिल होंगी. खुशबू के एक बयान पर काफी विवाद हुआ था, जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने उनके पक्ष में फैसला सुनाया था. इसके बाद ही खुशबू ने साफ कर दिया था कि वह राजनीति में आएंगी.

खुशबू ने कहा था, "मैं चुपचाप कई सामाजिक गतिविधियों में शामिल हूं, जिनमें एचआईवी और एड्स के प्रति जागरूकता पैदा करना भी शामिल है. लेकिन राजनीति में शामिल होने से मेरा कार्यक्षेत्र बढ़ सकता है."

खुशबू ने पहले संकेत दिया था कि वह कांग्रेस के साथ जुड़ सकती हैं, लेकिन अब उनके लिए डीएमके का रास्ता साफ हो रहा है. मुस्लिम परिवार में पैदा हुई 39 साल की खुशबू का असली नाम खुशबू खान है. उनका अभिनय करियर 1980 में शुरू हुआ. बाद में उन्होंने फिल्मकार सुंदर सी के साथ शादी कर ली और हिन्दू धर्म अपना लिया.

खुशबू ने 2005 में एड्स के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए बयान दिया था कि गैर शादी शुदा लड़कियां सेक्स कर सकती हैं लेकिन उन्हें एहतियात और सुरक्षा बरतनी चाहिए. ताकि वे अनचाहे गर्भ और यौन रोगों से बच सकें. उन्होंने यह भी कहा था कि पढ़े लिखे मर्द को यह अपेक्षा नहीं रखनी चाहिए कि उनकी पत्नी शादी के वक्त तक कुंवारी होगी.

उनके इस बयान से भारी विवाद पैदा हुआ और कई पार्टियों ने उनके खिलाफ मुकदमा दायर कर दिया. मामला भारत की सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचा और अदालत ने खुशबू के पक्ष में निर्णय दिया. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि शादी किए बगैर सेक्स कोई अपराध नहीं है और महिलाएं बिना शादी के भी बच्चा पैदा कर सकती हैं. सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले को मील का पत्थर माना जा रहा है.

खुशबू दक्षिण भारत की बेहद सफल अभिनेत्री रह चुकी हैं और उनके सम्मान में तिरुचिरापल्ली में एक मंदिर भी बनवाया गया. लेकिन खुशबू के बयान के बाद उनके समर्थक काफी हतोत्साहित हुए थे और उन्होंने इस मंदिर को काफी नुकसान पहुंचाया. खुशबू ने तमिल के अलावा हिन्दी, तेलुगु, कन्नड़ और मलयालम में भी फिल्में की हैं.

खुशबू की दो बेटियां हैं, अवन्तिका और आनंदिता, जिनके नाम पर अभिनेत्री ने एक प्रोडक्शन हाउस खोला है. उनके भाई अब्दुल्लाह भी फिल्मी करियर शुरू करने वाले हैं.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए जमाल

संपादनः उ भट्टाचार्य

संबंधित सामग्री