1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

खुलेंगे पांच हजार साल पुराने जीवन के राज

वह इटली के आल्प्स पर्वतों की बर्फ में पांच हज़ार साल दबा रहा. अब वैज्ञानिकों ने उसकी हड्डियों से डीएनए के नमूने 95 फीसदी डीएनए पढ़ लिए जिससे पता चला पाषाण युग में वह कैसे रहता था. क्या करता था क्या खाता पीता था.

default

पांच हजार साल दबा रहा बर्फ में

1991 में वह इटली के आल्प्स पर्वत के ओएत्स घाटी में दो जर्मन पर्यटकों को मिला. इस ममी का नाम रखा गया ओएत्ज़ी. यह एक ऐसी ममी है जो बर्फ के नीचे दबे रहने के कारण प्राकृतिक तरीके से संरक्षित हुई. यह ममी तब से अब तक दक्षिणी तिरोल में बोल्जानो के आर्कियोलॉजिकल म्यूजिम में रखी गई. इसके डीएनए परीक्षण से बहुत सारी गुत्थियां हल होने की वैज्ञानिकों को उम्मीद है.

वैज्ञानिकों ने इस ममी के कूल्हे से डीएनए सैंपल लिए और इन्हें पढ़ा गया. हालांकि अभी इन सभी सूचनाओं का विश्लेषण नहीं किया गया है.बोल्ज़ानो में यूरोपीय अकादमी ने कहा कि दुनिया की सबसे मशहूर ममी के सभी जीन लगभग पढ़ लिए गए हैं. इससिए इस आइसमैन से जुड़े कई सवालों के हल अब मिल सकेंगे.

यूरोपीय अकादमी, जर्मनी की ट्युबिंगन यूनिवर्सिटी और हाइडेलबर्ग में बायोइन्फर्मेटिक्स मामलों के जानकार ओएट्ज़ी के डीएनए पढ़ने में लगे हुए हैं. यूरोपीय अकादमी यूरेक में ममी और आइसमैन संस्थान के अध्यक्ष अल्बर्ट जिंक के साथ ट्यूबिंगन के कार्स्टन पुश, और हाइडलबर्ग के आन्द्रियास केलर भी हैं. जिंक इस बात को लेकर उत्साहित हैं कि इस ममी के जरिए पांच हज़ार साल पहले की बीमारियों के बारे में भी पता लग सकेगा कि क्या इस आइसमैन को मधुमेह और आल्जहाइमर थे. जीन्स में किस बदलाव के कारण यह बीमारियां इस तरह से आगे बढ़ी हैं. इस शोध से कल आज और कल का एक पुल तैयार होगा.

ओएत्सी छियालीस साल की उम्र में तीर से घायल हुआ और इसके बाद उसे किसी चीज से सिर पर मारा गया. 1998 से दक्षिणी तिरोल के पुरातत्व संग्रहालय में रखे गए ओएत्सी के कपड़ों, उसके साथ मिली चीजों से पता लगता है कि 5,300 साल पहले इन्सान कैसे रहते थे और कैसा उनका जीवन था.

रिपोर्टः डीडब्ल्यू/आभा एम

संपादनः ए कुमार

DW.COM

WWW-Links