1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

खतरे में स्टैचू ऑफ लिबर्टी

जलवायु परिवर्तन और समंदर में पानी का स्तर बढ़ने के कारण अमेरिका में स्टेचू ऑफ लिबर्टी से लेकर नासा की रॉकेट लॉन्च साइट तक कई इमारतें खतरे में हैं. वैज्ञानिकों ने सतर्क और तैयार रहने की चेतावनी दी है.

जलवायु परिवर्तन और समंदर में पानी का स्तर बढ़ने के कारण अमेरिका में स्टैचू ऑफ लिबर्टी से लेकर नासा के प्रक्षेपण स्थल तक कई इमारतें खतरे में हैं. वैज्ञानिकों ने सतर्क और तैयार रहने की चेतावनी दी है.

अमेरिकी वैज्ञानिकों के एक संघ ने दो दर्जन से ज्यादा ऐतिहासिक इमारतों को ऐसी सूची में रखा है तो तट पर जमीन कटने, बाढ़, और जंगल की आग से सीधे खतरे में हैं. इस सूची में स्टैचू ऑफ लिबर्टी और न्यूयॉर्क बंदरगाह का एलिस द्वीप भी है. इसी बंदरगाह से 1886 से 1924 के बीच एक करोड़ चार लाख प्रवासी अमेरिका आए थे. रिपोर्ट के मुताबिक पिछली सदी में न्यूयॉर्क शहर के आस पास समंदर का स्तर 12 इंच यानि करीब 30 सेंटीमीटर बढ़ गया है.

2012 के सैंडी तूफान के कारण एलिस और लिबर्टी को बाढ़ से जूझना पड़ा. दोनों द्वीपों की मूलभूत संरचना ध्वस्त हो गई और उन्हें महीनों बंद रखना पड़ा. लिबर्टी द्वीप पर ही स्टैचू ऑफ लिबर्टी है. न्यूयॉर्क अब द्वीपों पर ऐसे इलेक्ट्रिकल सिस्टम बना रहा है जो समंदर के स्तर से करीब 20 फीट ऊंचे हों और इस तरह के हीटिंग और एसी सिस्टम बनाए जा रहे हैं जो बाढ़ का सामना कर सकें.

और जगहें जो पानी का स्तर बढ़ने के कारण खतरे में हैं उनमें उत्तर अमेरिका के वर्जीनिया में पहली स्थायी ब्रिटिश कॉलोनी जेम्स टाउन द्वीप और दक्षिणी कैरोलाइना का चार्ल्सटन द्वीप शामिल है.

नासा परेशान

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के अरबों डॉलर वाले पांच तटीय कॉम्प्लेक्स भी खतरे में हैं. यहां अंतरिक्ष यात्रियों को ट्रेनिंग दी जाती है और यहां से कई सालों से रॉकेट लॉन्च किए जाते रहे हैं. खतरा झेल रहे सेंटरों में फ्लोरिडा का केप कैनैवेरल और ह्यूस्टन का मिशन कंट्रोल शामिल है. अमेरिका में कुल सात ऐसे सेंटर हैं. अमेरिकी स्पेस एजेंसी, जहां संभव है, वहां समंदर के किनारे दीवार बना रही है और इमारतों को तटों से दूर ले जाने की कोशिश कर रही है.

रिपोर्ट के मुताबिक, "नासा के योजना और विकास कार्यालय के मुताबिक बढ़ता समुद्री जलस्तर कैनेडी स्पेस सेंटर में जारी ऑपरेशन के लिए सबसे बड़ा खतरा है."

नासा का एक और स्टेशन जो बढ़ते जल स्तर से जूझ रहा है, वह है वर्जीनिया का वैलॉप्स फ्लाइट फैसिलिटी. 1945 में इसके शुरू होने से अभी तक समंदर के स्तर में नौ इंच यानि 23 सेंटीमीटर की बढ़ोत्तरी हो गई है. लैंगली में नासा के विज्ञान महानिदेशालय के रसेल डे यंग ने कहा, "पीछे हटना ही एक रास्ता है क्योंकि आप अचानक उठ कर यहां से नहीं जा सकते. इमारतें बहुत फैली हुई हैं. पानी से लगी हुई इमारतों को वो गिरा रहे हैं और नई इमारतें अपनी जमीन पर ही लेकिन पानी से दूर बना रहे हैं.

नए कॉम्प्लेक्स का नाम न्यूटाउन रखा गया है. 2009 में ही अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने सभी सरकारी एजेंसियों को जलवायु परिवर्तन से जूझने के लिए तैयार रहने को कह दिया था.

एएम/एजेए (एएफपी)

DW.COM