1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

क्या है अमेरिकी अरबपति का ट्रंप कार्ड

अमेरिका के नए राष्ट्रपति के रूप में चुने जाने की राह अभी लंबी है. उम्मीदवारों की भीड़ में डेमोक्रेट हिलेरी क्लिंटन आगे मानी जा रही हैं, तो वहीं रिपब्लिकन डोनाल्ड ट्रंप अपने अप्रत्याशित अंदाज से सबको चौंकाते जा रहे हैं.

फॉक्स न्यूज नेटवर्क की सार्वजनिक टीवी बहस में हिस्सा ना लेकर अरबपति कारोबारी डोनाल्ड ट्रंप ने फिर सुर्खियां बटोरीं हैं. रिपब्लिकन पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद की दावेदारी में अपनी जगह मजबूत करने के लिए ट्रंप को एक फरवरी का आयोवा प्रांत का कॉकस जीतना होगा. फॉक्स की बहस को पक्षपातपूर्ण बताते हुए ट्रंप ने वहां ना जाकर अपनी एक अलग रैली आयोजित की. यहां उन्होंने घायल सैनिकों के लिए धनराशि इकट्ठा करने की और साथ ही फॉक्स पर बहस देखने वाले कुछ दर्शक भी छीने.

पिछले कई महीनों से ट्रंप को पार्टी की ओर से एक मजबूत उम्मीदवार माना जाने लगा है. हालांकि कुछ पोल दिखाते हैं कि उनकी कड़ी टक्कर टेक्सस से सीनेटर टेड क्रूज के साथ होगी. क्रूज कंजर्वेटिव और इंवैजलिक ईसाइयों के पसंदीदा माने जा रहे हैं और कॉकस स्तर पर यह समूह चुनावी नतीजों पर खासा प्रभाव रखता है.

अमेरिकी राष्ट्रपति को चुनने के लिए पहले प्रांतीय स्तर पर चुनाव होते हैं, जिसमें हर पार्टी की तरफ से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी के लिए प्रतिनिधि चुने जाते हैं. कई रिपब्लिकन उम्मीदवार भी ट्रंप के बहस में शामिल ना होने से खुश हुए क्योंकि उन्हें लगता है कि इससे आयोवा के चुनाव में ट्रंप को नुकसान उठाना पड़ेगा. फ्लोरिडा के पूर्व गवर्नर जेब बुश ने कहा, "मुझे लगता है कि आयोवा कॉकस के केवल चार दिन पहले इस तरह बहस से हट जाने के कारण उन्हें नुकसान होगा." लेकिन ट्रंप के समर्थकों इससे उलट सोचते हैं.

राजनीतिक जानकार ट्रंप के विवादास्पद बयान देते रहने को उनके हर वक्त सुर्खियों में बने रहने का तरीका मानते हैं. कभी मुस्लिम विरोधी, कभी महिला विरोधी तो कभी शरणार्थी विरोधी बयानों के कारण ट्रंप से कुछ भी अप्रत्याशित नहीं माना जाता. वह टीवी बहस के बजाए राष्ट्रीय चैनल पर इंटरव्यू देते हैं और साथ ही सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर पर भी अपनी बात रखते हैं. फॉक्स बहस को नकारने पर उनका कहना था, "मुझे अच्छा नहीं लगता अगर कोई मेरा फायदा उठाए."

9 फरवरी को न्यू हैंपशर के प्राइमरी चुनावों से व्हाइट हाउस की रेस की ठोस शुरुआत मानी जाएगी. ट्रंप और फॉक्स के विवाद की कहानी पुरानी है. चुनाव अभियान की शुरुआती बहसों में मॉडरेटर मेगिन कैली ने ट्रंप से उनके महिला विरोधी बयानों पर कड़े प्रश्न किए थे. ट्रंप फिर से उसी मॉडरेटर के साथ ऐसी अप्रिय स्थिति में नहीं पड़ना चाहते थे.

दूसरे डेमोक्रेट खेमे में अमेरिकी सेनेटर बर्नी सैंडर्स ने राष्ट्रपति बराक ओबामा से मुलाकात की है. कुछ ही दिन पहले ओबामा ने अपनी पार्टी से एक मजबूत उम्मीदवार मानी जा रही हिलेरी क्लिंटन की तारीफ की थी. 8 नवंबर के राष्ट्रपति चुनावों में डेमोक्रेट पार्टी की ओर से क्लिंटन या सैंडर्स में से एक उम्मीदवार हो सकता है. सैंडर्स से मुलाकात में ओबामा ने साफ किया कि वे सभी उम्मीदवारों को समान रूप से समर्थन दे रहे हैं. 2008 में ओबामा ने क्लिंटन को पीछे छोड़ डेमोक्रेट पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार बने.

आरआर/एमजे (एपी,रॉयटर्स)

संबंधित सामग्री