1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

क्या नए असहयोग आंदोलन की शुरुआत है ये

एक समृद्ध परिवार की महिला ने मुंबई की लोकल ट्रेन में बिना टिकट पकड़े जाने पर फाइन देने के बदले सात दिन की जेल चुनी. वजह बताई पहले माल्या से 9000 करोड़ रुपये वसूलो फिर आम आदमी को परेशान करो.

44 वर्षीय महिला को रविवार को मुंबई में एक लोकल ट्रेन में बिना टिकट सफर करते हुए पकड़ा गया था. 260 रुपये का फाइन मांगे जाने पर महिला ने कहा कि अधिकारियों को पहले लिकर किंग विजय माल्या को पकड़ना चाहिए और 9000 करोड़ रुपये का बकाया वसूलना चाहिए. दक्षिण मुंबई के भूलेशष्वर में रहने वाली दो बच्चों की मां को टिकट चेकर ने महालक्ष्मी स्टेशन पर बिना टिकट के पकड़ा था. पुलिस द्वारा फाइन मांगने पर महिला ने इनकार कर दिया और पहले माल्या को पकड़े जाने की सलाह दी.

महिला को मंगलवार को मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया गया जहां मजिस्ट्रेट ने उससे फाइन देने को कहा. पश्चिम रेलवे के एक सुरक्षा अधिकारी के अनुसार महिला ने कोर्ट में भी फाइन देने से मना कर दिया. रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स के एक अधिकारी ने कहा कि पुलिस ने महिला को मनाने की बहुत कोशिश की वह फाइन चुका कर मामले का रफा दफा करे. लेकिन महिला ने कुछ भी सुनने से इनकार कर दिया.

पुलिस अधिकारी ने कहा कि वह महिला पुलिस अधिकारियों के साथ करीब 12 घंटे तक बहस करती रही और पूछती रही कि अधिकारी माल्या के साथ इतनी नरमी क्यों दिखा रहे हैं जबकि आम आदमी के प्रति उनका रवैया सख्त होता है. परेशान होकर पुलिस ने महिला के पति को बुलाया और उसकी मदद लेने की कोशिश की, लेकिन महिला ने अपने पति की भी बात मानने से मना कर दिया.

एमजे/एसएफ (पीटीआई)

संबंधित सामग्री