1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

क्या टैल्कम पाउडर से कैंसर हो सकता है?

अमेरिका में एक महिला ने जॉन्सन एंड जॉन्सन के टैल्कम पाउडर से गर्भाशय का कैंसर होने का दावा किया था. अदालत ने उसे 41.7 करोड़ डॉलर हर्जाना देने का फैसला सुनाया. लेकिन अब इस पर रोक लगा दी गयी है. 

लॉस एंजेलेस के काउंटी सुपीरियर कोर्ट के जज मैरेन नेल्सन ने कंपनी के दोबारा मुकदमा चलाने को आग्रह को मान लिया है. जज नेल्सन का कहना है कि दो महीने पहले जिस ट्रायल में फैसला आया उसमें कुछ गलतियां हैं और जूरी ने ठीक से काम नहीं किया. नेल्सन ने यह भी कहा कि इस बात के पक्के सबूत नहीं हैं कि जॉनसन एंड जॉनसन ने जान बूझ कर दुर्भावना के तहत काम किया, साथ ही कोर्ट ने यह भी कहा है कि नुकसान के लिए दिया गया हर्जाना बहुत ज्यादा है. कोर्ट में यह दावा करने वाली महिला एवा एशेवेरिया की पहले ही मौत हो चुकी है, हालांकि फैसले के खिलाफ भी अपील की तैयारी हो रही है. उनके वकील मार्क रॉबिन्सन जूनियर ने इस बात की जानकारी दी. रॉबिन्सन ने एक बयान जारी कर कहा है, "हम उन सभी महिलाओं की ओर से इस लड़़ाई को जारी रखेंगे जो इस खतरनाक सामान से प्रभावित हुई हैं."

जॉन्सन एंड जॉ़न्सन अमेरिका की एक बड़ी कंपनी है और बच्चों के लिए बनाये उसके उत्पाद दुनिया भर में इस्तेमाल होते हैं. एशेवेरिया ने जॉन्सन एंड जॉ़न्सन पर आरोप लगाया था कि कंपनी ने ग्राहकों को पर्याप्त रूप से चेतावनी नहीं दी कि टैल्कम पाउडर से कैंसर का खतरा है. एशेवेरिया ने कंपनी के बेबी पाउडर का 1950 के दशक से 2016 तक नियमित रूप से इस्तेमाल किया. कोर्ट के दस्तावेज के मुताबिक 2007 में उनके गर्भाशय कैंसर का पता चला. एशेवेरिया ने अपनी याचिका में कहा कि गर्भाशय का कैंसर "टैल्कम पाउडर की खराब और खतरनाक प्रकृति" के कारण हुआ. एशेवेरिया के वकील ने दलील दी कि जॉन्सन एंड जॉन्सन टॉल्क और गर्भाशय के कैंसर के जोखिम की बात तीन दशक पहले से जानता था. टॉल्क एक बारीक चूर्ण वाला खनिज है जिसमें साबुन जैसा अहसास होता है. इसमें हाइड्रेटेड मैग्नीशियम सिलिकेट रहता है. टैल्कम पाउडर जैसी कई दूसरी चीजों में इसका इस्तेमाल होता है.

कंपनी का कहना है कि अदालत के फैसले से उसे खुशी हुई है. कंपनी की प्रवक्ता कैरोल गुडरिच ने एक बयान में कहा, "गर्भाशय का कैंसर एक खतरनाक बीमारी है लेकिन यह कॉस्मेटिक स्तर के टॉल्क से नहीं होता जिसका इस्तमाल हम जॉ़न्सन बेबी पाउडर में कई दशकों से करते आ रहे हैं. विज्ञान इसमें स्पाष्ट है और हम जॉन्सन बेबी पाउडर के सुरक्षित होने का दावा करते रहेंगे, हम अमेरिका में और जांचों के लिए भी तैयारी कर रहे हैं."

न्यू जर्सी की इस कंपनी पर ऐसे सैकड़ों दावे इस घटना के बाद किये गये. ज्यूरी ने इन सभी दावों को जोड़ा तो करोड़ों डॉ़लर की रकम हो गयी. हालांकि मंगलवार को मिसूरी की अपील कोर्ट ने अलाबामा की एक महिला के लिए 7.2 करोड़ डॉलर के हर्जाने वाले दावे को खारिज कर दिया. अदालत ने कहा कि इस तरह के मामलों में राज्य की अदालत में दावा नहीं किया जा सकता और यह उसकी न्यायिक परिधि से बाहर है. अदालत ने इसके पीछे सुप्रीम कोर्ट के जून में आये उस फैसले का हवाला दिया जिसमें कहा गया है कि राज्य की अदालतें उन कंपनियों के खिलाफ मुकदमों की सुनवाई नहीं कर सकतीं जो उस राज्य में नहीं हैं जहां नुकसान हुआ.

एनआर/एके (एपी)

DW.COM