1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

कौन हैं ब्रिटेन के नए उप प्रधानमंत्री निक क्लेग

ब्रिटेन की राजनीति की दो दलीय परंपरा को तोड़ते हुए निक क्लेग की पार्टी लिबरेल डैमोक्रेट सत्ता तक पहुंची. इस सफलता में निक क्लेग की बड़ी भूमिका है. 43 साल के क्लेग राजनीति के अलावा कई अन्य बातों के लिए भी लोकप्रिय हैं.

default

43 साल के निक क्लेग अब ब्रिटेन की राजनीति का नया और प्रभावशाली चेहरा बन गए हैं. पांच यूरोपीय भाषा जानने वाले क्लेग पार्टी के सबसे युवा अध्यक्ष हैं. 6 मई को हुए आम चुनावों में कंज़र्वेटिव पार्टी के साथ गठबंधन सरकार में आए लिबरल डैमोक्रेट्स के नेता क्लेग उप प्रधानमंत्री बनाए गए है.

चुनावों के पहले निक क्लेग का कोई नाम भी नहीं जानता था, थोड़े समय में ही उन्होंने अपने प्रभावशाली भाषणों से ब्रिटेन की राजनीतिक हवा बदल दी. ब्रिटेन में इन चुनावों में पहली बार टीवी पर प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवारों की खुली बहस हुई. जिसमें क्लेग ने ब्राउन और कैमरन को फ़ीका साबित कर दिया. उनकी पार्टी ने 57 सीटें जीतीं.

निक कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी से एन्थ्रोपॉलॉजी यानी मानवशास्त्र में एमए हैं इसके अलावा उन्होंने राजनीतिक दर्शनशास्त्र (पॉलिटिककल फिलॉसॉफी) में भी एमए किया है और यूरोपीयन अफेयर्स में भी.

अपने करियर की शुरुआत क्लेग ने पत्रकारिता से की थी. उन्होंने न्यूयॉर्क में प्रशिक्षु पत्रकार के तौर पर काम किया उसके बाद बुडापेस्ट में आर्थिक सुधारों पर लिखे लेख के लिए उन्हें इकोनमिक टाइम्स का पुरस्कार भी मिला. इसके बाद पांच साल उन्होंने यूरोपीय आयोग में काम किया और फिर 2005 में वे सासंद के तौर पर चुने गए.

2006 से वे लिबरल डैमोक्रेटिक पार्टी के अध्यक्ष हैं. क्लेग को आधुनिक कहा जाता है लेकिन कुछ आलोचक उन्हें सच्चाई से काफी दूर रहने वाला एक संभ्रांत नेता मानते हैं.

रिपोर्टः आभा मोंढे

संपादनः ओ सिंह

संबंधित सामग्री