कौन सा परफ्यूम पसंद करेंगे | मनोरंजन | DW | 18.06.2013
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

कौन सा परफ्यूम पसंद करेंगे

गर्मियों में तरोताजा महसूस करने के लिए लोग तरह तरह के पाउडर, डियो और परफ्यूम खरीदते हैं, लेकिन कौन सा परफ्यूम आपको ताजगी का सबसे ज्यादा एहसास दिलाएगा निर्भर करता है उसकी खुशबू पर.

एक लंबे इंतजार के बाद यूरोप में गर्मियां शुरू हो गयी हैं और इनके साथ शुरू हो गए हैं तरह तरह के फेस्टिवल और फैशन से जुड़े आयोजन. बर्लिन में परफ्यूम की नई रेंज निकाली गयी है. जानकार इस बात पर ध्यान दे रहे हैं कि गर्मियों में लोगों को किस तरह की खुशबू पसंद आती है.

जर्मनी की फ्रेगरेंस फाउनडेशन के मार्टिन रुपमन परफ्यूम के ताजा ट्रेंड के बारे में बताते हैं, "आदमियों के लिए सेंट लगाना पहाड़ी झरने में छलांग लगाने जैसा है और महिलाओं के लिए फूलों वाले बाग में चलने जैसा."

मोगरा या गुलाब?

महिलाओं के सेंट में हमेशा से ही फूलों की खुशबू पर जोर दिया गया है. जर्मनी की असोसिएशन ऑफ परफ्यूमर्स के एलमार केलडेनिष बताते हैं, "सफेद, मुलायम फूल की खास भूमिका रहती है." सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाली खुशबुओं में से एक है मोगरे की. इसे जॉर्जियो अरमानी और रोबेर्तो कवाली जैसे मशहूर परफ्यूम में भी इस्तेमाल किया जाता है. मोगरे की खुशबू मीठी सी होती है जिसमें ताजगी और मादकता का मिश्रण होता है.

खुशबू के साथ साथ परफ्यूम के नाम पर भी ध्यान दिया जाता है. अधिकतर ब्रैंड 'एक्वा' शब्द का इस्तेमाल करना पसंद करते हैं. 'एक्वा' यानी पानी, जो हमेशा ताजगी का एहसास देता है. इनमें पुदीना, गुलाब और कमल की खुशबुओं का इस्तेमाल किया जाता है. केलडेनिष कहते हैं, "ये आपको ताजेपन और हल्केपन का एहसास कराते हैं और इसीलिए गर्मियों के लिए परफेक्ट हैं".

Jasminum sambac im Jemen

मोगरा इत्र और परफ्यूम में बहुत पसंद किया जाता है

शनैल नं.5 का राज

केल्विन क्लाइन ने अपने परफ्यूम 'सीके वन समर' में इसी फॉर्मूले को अपनाया है. परफ्यूम में कमल और पुदीने के अलावा खीरे की खुशबू का भी इस्तेमाल किया गया है. महिलाओं के परफ्यूम में मोगरे के अलावा आइरिस का भी इस्तेमाल होता है. फर्क इतना है कि सेंट आइरिस के फूल से नहीं, बल्कि उसकी जड़ से बनाया जाता है. मशहूर प्रादा के परफ्यूम में आपको इसकी खुशबू मिल जाएगी.
सबसे मशहूर फूल है गुलाब का. इसे हजारों सालों से इस्तेमाल किया जा रहा है. गुलाब के इत्र से शायद दुनिया की हर संस्कृति वाकिफ है. दुनिया का सबसे जाने माने परफ्यूम 'शनैल नं.5' की खुशबू का भी यही राज है.

फलों की खुशबू

इस साल जो नए परफ्यूम बन रहे हैं उनमें फूलों और पानी की ताजगी के साथ साथ एक नई चीज का इस्तेमाल भी हो रहा है. ये हैं फल. केलडेनिष बताते हैं, "हमारी इंद्रियां ताजे फलों की खुशबू को गर्मियों से जोड़ कर देखती हैं". यही वजह है कि एस्काडा ने अपने नए परफ्यूम में चेरी और डिओर ने क्रैनबेरी का इस्तेमाल किया है.

पुरुषों के परफ्यूम की बात की जाए तो इनके सेंट में पानी की ताजगी को दर्शाना शुरू किया डेवीडॉफ ने. 1990 में पहले बार डेवीडॉफ का 'कूल वॉटर' बाजार में आया और तब से पुरुषों का सबसे पसंदीदा परफ्यूम बना हुआ है.

Flash-Galerie Ostern Traditionen in den verschiedenen Ländern

परफ्यूम आपको ताजेपन और हल्केपन का एहसास कराते हैं.

कूल वॉटर का स्पोर्टी टच

इस साल भी परफ्यूम बनाने वाले पहाड़ों और झरनों की ताजगी पर ही ध्यान दे रहे हैं. केल्विन क्लाइन के 'इटरनिटी' में सी ग्रास, बुलगारी के 'एक्वा पोर होम' में समुद्री पौधे पोजीडीना और बायोथर्म के 'एक्वा फिटनेस' में नींबू का इस्तेमाल हुआ है.

इनमें जामुनी रंग के लैवेंडर के फूल भी डलते हैं. हालांकि मीठी खुशबू वाले लैवेंडर के फूलों को महिलाओं से जोड़ कर देखा जाता है, लेकिन पुरुषों के परफ्यूम में भी इन्हें कई अन्य खुशबुओं के साथ मिला कर डाला जाता है. मार्टिन रुपमन इसके असर के बारे में कहते हैं, "इस साल पुरुषों के लिए जो परफ्यूम बन रहे हैं उनमें यकीनन एक स्पोर्टी टच है".

आईबी/एएम (डीपीए)

DW.COM