1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

कोलंबिया और वेनेजुएला के कूटनीतिक रिश्ते बहाल

कोलंबिया के राष्ट्रपति युआन मैन्युएल सांतोस और वेनेजुएला के राष्ट्रपति हूगो शावेज ने आपसी सहमति से कूटनीतिक रिश्ते बहाल कर लिए हैं. कोलंबिया ने वेनेजुएला पर विद्रोहियों को शरण देने का आरोप लगाते हुए संबंध तोड़े लिए थे.

default

शावेज ने की नई शुरुआत की अपील

अमेरिका के नजदीकी समझे जाने वाले कोलंबिया के नए राष्ट्रपति सांतोस ने कहा, "हमने पुरानी बातों को भूल कर भविष्य की ओर देखने का फैसला किया है." सांतोस ने शनिवार को ही राष्ट्रपति पद का कार्यभार संभाला है. कोलंबिया की राजधानी सांता मार्ता में वेनेजुएला के राष्ट्रपति शावेज से मुलाकात के बाद सांतोस ने उनसे हाथ मिलाया और कूटनीतिक रिश्ते बहाल करने की घोषणा की. दोनों देश सीमा पार सुरक्षा समिति बनाने, पर सहमत हो

Kombobild Uribe und Chavez

राष्ट्रपति अल्वारो उरिबे के दौर में रिश्तों में रही खटास

गए हैं. वेनेजुएला ने कोलंबिया के निर्यातकों का कर्ज चुकाने का वादा किया है. यह कर्ज करीब 80 करोड़ डॉलर का है.

दोनों देशों के बीच कई महीनों से तनाव रहा है और कोलंबिया ने वेनेजुएला पर व्यापार रोकने और रिश्ते तोड़ने का आरोप लगाया. लेकिन अब कोलंबिया और वेनेजुएला नई शुरुआत के लिए तैयार दिख रहे हैं. इसका एक कारण सात अरब डॉलर के द्विपक्षीय व्यापार को फिर से शुरू करना भी है. शावेज ने सांतोस को आश्वासन दिया, "मेरी दोस्ती पर भरोसा रखो. मुझे हमेशा इस बात का दुख रहेगा कि कोलंबिया की पिछली सरकार के साथ कैसे हमारे संबंध खराब होते चले गए."

कोलंबिया ने आरोप लगाया था कि हूगो शावेज कोलंबियाई छापामार लड़ाकों को शरण दे रहे हैं जबकि वेनेजुएला की शिकायत रही है कि कोलंबिया अमेरिका को सैन्य अड्डे मुहैया करा रहा है. ये मुद्दे और विचाराधारा के स्तर पर मतभेद सुलटने आसान नहीं हैं और सांतोस ने सजगता दिखाते हुए कहा कि आपसी संबंधों में नजदीकी धीरे धीरे लेकिन मजबूती से आएगी.

कोलंबिया में लंबे समय से गुरिल्ला संघर्ष चल रहा है जो वेनेजुएला की सीमा को भी पार कर चुका है. शावेज की शिकायत है कि कोलंबियाई सेना सीमा को सुरक्षित करने के लिए कड़े कदम नहीं उठा रही है. लेकिन शावेज विचाराधारा के स्तर पर कोलंबिया के मार्क्सवादी फार्क विद्रोहियों के नजदीकी कहे जाते हैं. लेकिन शावेज इसे अमेरिकी प्रोपेगेंडा करार देते हैं.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: ए कुमार

DW.COM