1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

कोरियाई देशों में फिर जबरदस्त तनाव

दक्षिण कोरिया येओनपेओंग द्वीप पर अत्याधुनिक हथियारों के साथ सैन्य अभ्यास करने वाला है. एक महीने पहले उत्तर कोरिया ने इसी द्वीप पर हमला किया था. इसके साथ ही दोनों कोरियाई देशों का तनाव फिर बढ़ गया है.

default

उत्तर कोरिया ने कहा है कि दक्षिण कोरिया का सैन्य अभ्यास भड़काने वाली कार्रवाई है. दक्षिण कोरिया ने द्वीप पर सैनिक अभ्यास करने का फैसला ऐसे समय किया है जबकि अमेरिकी दूत बिल रिचर्डसन कोरियाई प्रायद्वीप में तनाव कम करने के लिए वहां पहुंचे हैं. रिचर्डसन न्यू मेक्सिको प्रांत के गवर्नर हैं. नवंबर में हुए हमले में दक्षिण कोरियाई द्वीप पर चार लोग मारे गए थे. गुरुवार को सेना के ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ से जारी एक बयान में कहा गया, "नौसेना की हथियारों के साथ ड्रिल उत्तर कोरिया की जल सीमा में दक्षिण पश्चिमी येओनपेओंग में 18 से 21 दिसंबर के बीच की जाएगी."

उत्तर कोरिया ने कहा है कि उसने हमला दक्षिण के उकसाने वाली हथियारों की ड्रिल के जवाब में किया है. जबकि दक्षिण का कहना है कि यह अभ्यास उत्तर कोरिया पर लक्षित नहीं थे. उधर इन रिपोर्टों पर भी चिंता है कि उत्तर कोरिया में यूरेनियम संवर्धन के लिए और संयंत्र बनाए किए गए हैं और आशंका जताई जा रही है कि मार्च से मई 2011 के बीच उत्तर कोरिया परमाणु परीक्षण कर सकता है.

अमेरिका, जापान और रूस ने उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम की निंदा की है और इसे बंद करने के लिए कहा है. 2005 में प्योंगयांग ने वादा किया था कि वह परमाणु कार्यक्रम बंद कर देगा.

न्यू मेक्सिको के गवर्नर बिल रिचर्डसन उत्तर कोरिया के साथ मध्यस्थता कर चुके हैं. उनका कहना है, "कोरियाई देशों के लिए मेरा संदेश होगा कि हमें शांति शाहिए. हमें दक्षिण कोरिया के मामले में आक्रामक कार्रवाई रोकने की जरूरत है और हम चाहते हैं कि उत्तर कोरिया 2005 के वादे को पूरा करे."

रिपोर्टः एजेंसियां/आभा एम

संपादनः ए जमाल

DW.COM