1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

कोरियाई गहमागहमी से निपटने के लिये चीन ने रखा प्रस्ताव

चीन के विदेश मंत्री ने कोरियाई क्षेत्र में बढ़ रही तनातनी को रोकने का एक रास्ता सुझाया है. इस मसले पर चीन ने एक प्रस्ताव रखा है. वहीं दूसरी ओर, संयुक्त राष्ट्र ने उत्तर कोरिया के मिसाइल लॉन्च की कड़ी निंदा की है.

कोरियाई प्रायद्वीप में बढ़ते तनाव के बीच बुधवार को चीन ने प्रस्ताव रखा कि उत्तर कोरिया अपने परमाणु और मिसाइल परीक्षण को बंद कर सकता है, अगर बदले में अमेरिका और दक्षिण कोरिया संयुक्त सैन्याभ्यास को बंद कर दें. चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने कहा कि यह कदम इस टकराव को रोकने में अहम भूमिका निभा सकता है.

उन्होंने कहा "ये दोनों ही पक्ष आमने-सामने से आ रही दो रेलगाड़ियों की तरह हैं, जिसमें कोई भी किसी को जगह नहीं देना चाहता." वांग ने मीडिया से बातचीत में कहा कि हमारी प्राथमिकता दोनों गाड़ियों को लाल बत्ती दिखाकर ब्रेक लगाना है. इस तरह के कदमों को रोकने से दोनों ही पक्षों को बातचीत के लिये एक मंच पर लाया जा सकेगा. 

अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंधों को दरकिनार करते हुये उत्तर कोरिया ने सोमवार को चार बैलस्टिक मिसाइलों का परीक्षण किया था. इन मिसाइलों से जापान में स्थित अमेरिका के सैन्य अड्डों पर सीधा निशाना साधा जाना संभव है. हालांकि इन चारों मिसाइलों में से तीन जापान के समुद्री क्षेत्र में गिरी थी. इस परीक्षण पर जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने भी आपत्ति दर्ज कराई थी.

पिछले हफ्ते दक्षिण कोरिया और अमेरिका का संयुक्त सैन्याभ्यास शुरू किया गया था, जिसे दोनों देशों ने केवल एक सुरक्षात्मक तैयारी बताया है. लेकिन उत्तर कोरिया इसे युद्ध की ओर बढ़ाया गया कदम मान रहा है.

हालांकि उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षण के बाद अमेरिका ने दक्षिण कोरिया में मिसाइल प्रतिरोधी प्रणाली, टर्मिनल हाई एल्टीट्यूट डिफेंस सिस्टम (टीएचएएडी) की तैनाती शुरू कर दी है. हालांकि अमेरिका के इस कदम से न सिर्फ उत्तर कोरिया विरोध कर रहा है बल्कि चीन ने भी इस पर अपना विरोध दर्ज कराया है. चीन का कहना है कि यह सिस्टम उसकी सुरक्षा व्यवस्था में भी सेंध लगा सकता है. टीएचएएडी सिस्टम एक ऐसी प्रतिरोधी प्रणाली है जिसमें हिट-टू-किल तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है जो बमबारी को बीच में ही नष्ट कर देती है.

वहीं संयुक्त राष्ट्र ने उत्तर कोरिया के मिसाइल लॉन्च कार्यक्रम की कड़ी निंदा की है और इसे संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव का गंभीर उल्लघंन कहा है साथ ही उत्तर कोरिया के इस तरह के व्यवहार पर चिंता जताई.

एए/आरपी (रॉयटर्स,डीपीए)

 

DW.COM

संबंधित सामग्री