1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

कोच बनने के लिए जान दे सकता हूं: माराडोना

अर्जेंटीना के पूर्व कोच डिएगो माराडोना अपना काम वापस चाहते हैं और इसके लिए वह जान की बाजी लगाने को भी तैयार हैं. उन्होंने कहा कि वर्ल्ड कप के क्वॉर्टर फाइनल में मिली शर्मनाक हार का बदला चुकाने के लिए कुछ भी कर सकते हैं.

default

दक्षिण अफ्रीका में वर्ल्ड कप में हार कर बाहर हो जाने के बाद देश की फुटबॉल एसोसिएशन ने माराडोना को कोच पद से हटा दिया था. माराडोना इस बात को लेकर तब भी भावुक हुए थे. रविवार को उसी भावुक अंदाज में उन्होंने कहा, "राष्ट्रीय टीम के साथ वापस आने के लिए मैं अपनी एक बांह देने को तैयार हूं. कोच बनने के लिए मैं अपनी जिंदगी तक दे सकता हूं. मुझे लगता है कि मेरे पास एक मौका तो है."

एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में माराडोना ने कहा, "मैं बदला लेने के लिए प्यासा हूं." कोच पद से हटाए जाने के बाद माराडोना ने पहली बार सार्वजनिक रूप से बात की है. उनके हटने के बाद सर्गियो बतिस्ता अंतरिम कोच के तौर पर इस जिम्मेदारी को संभाल रहे हैं. इससे पहले वह युवा टीम के कोच रहे जिसने 2008 ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीता. अब बतिस्ता को उम्मीद है कि उन्हें राष्ट्रीय टीम का पूर्णकालिक कोच बना दिया जाएगा और 2014 तक के लिए यह जिम्मेदारी दे दी जाएगी. इस बारे में फेडरेशन साल के आखिर तक फैसला करेगी.

इस तरह की खबरें आती रही हैं कि कोच के तौर पर माराडोना का करियर अब खत्म हो चुका है. लेकिन वह खुद अभी इस जिम्मेदारी को कुछ और वक्त तक संभालना चाहते हैं. हाल ही में उन्हें राष्ट्रपति क्रिस्टीना फर्नांडेज और उनके पति नेस्टर किर्षनर ने अपने घर खाने पर बुलाया. इस मुलाकात के बारे में माराडोना बताते हैं, "किर्षनर ने मुझसे कहा कि वह कुछ खिन्न हैं क्योंकि मेरे कॉन्ट्रैक्ट को आगे बढ़ाने पर फैसला नहीं हो रहा है. उन्होंने कहा कि उनका समर्थन मेरे साथ है. वे दोनों मुझे ही कोच के रूप में देखना चाहते हैं."

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः महेश झा

DW.COM

WWW-Links