1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

कोच्चि पर फैसला आज

बीसीसीआई ने कहा कि उन्हें कोच्चि फ्रैंचाइजी और सुनील गावस्कर के बीच किसी संबंध की कोई जानकारी नहीं. आईपीएल की नई टीम कोच्चि के भाग्य के बारे में आज यानी बुधवार को नागपुर में फैसला होना है.

default

गावस्करः मामले में शामिल

हालांकि इस मामले में गावस्कर को शामिल किया जाना आईपीएल की गवर्निंग काउंसिल का एक मुद्दा भी हो सकता है क्योंकि बुधवार को नागपुर में कोच्चि टीम के भविष्य पर उसकी बैठक होने वाली है.
कोच्चि टीम ने गावस्कर को सलाहकार के तौर पर नियुक्त किया है. फ्रैंचाइजी का कहना है कि उन्होंने ऐसा तब किया जब गावस्कर को गवर्निंग काउंसिल से निकाला गया. बीसीसीआई के उपाध्यक्ष राजीव शुक्ल ने कहा कि बोर्ड को फ्रैंचाइजी के इस

Sharad Pawar Shashank Manohar BCCI

बीसीसीआई प्रमुख शशांक मनोहर शरद पवार(बांए) के साथ

फैसले के बारे में कुछ भी पता नहीं था. "हमें कोच्चि आईपीएल के साथ गावस्कर के संबंधों के बारे में कोई जानकारी नहीं थी. हमें कभी भी इस बारे में जानकारी नहीं दी गई. यह पहली बार है जब हमें यह बताया गया है. कल हम बैठक में इस पर चर्चा करेंगे."

हालांकि शुक्ल ने साफ किया कि फिलहाल बीसीसीआई या आईपीएल गवर्निंग काउंसिल नामी बल्लेबाज से किसी तरह की सफाई नहीं मांगेगी. गावस्कर को संचालक परिषद से भुगतान में गड़बड़ी के मामले पर निकाला गया था.

कोच्चि फ्रेंचाइजी से जुड़ा मुख्य मुद्दा यह है कि इसका कामकाज कौन देखेगा. फ्रेंचाइजी को एक समूह तैयार करके 33 करोड़ 30 लाख डॉलर में खरीदा गया था.
इसके निवेशकों में कॉर्पोरेट फर्म एंकर अर्थ, पारिणी डेवलपर्स, रोजी ब्लू और फिल्म वेव हैं, जिनके पास प्रतिभूति का 75 फीसदी हिस्सा है. बाकी 25 प्रतिशत गायकवाड़ परिवार के पास है.
बोर्ड ने कोच्चि फ्रैंचाइजी को 10 अक्तूबर को 10 दिन का समय दिया था कि वह आतंरिक मतभेदों को सुलझा ले. फ्रैंचाइजी ने 20 अक्तूबर को इस बाबत एक पत्र बीसीसीआई को भेजा.

रिपोर्टः पीटीआई/आभा एम

संपादनः एम जी

DW.COM

WWW-Links