1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

कोका कोला से मुआवजा लेने के लिए बनेगा ट्राइब्यूनल

केरल सरकार ने मल्टीनेशनल कंपनी कोका कोला से मुआवजा तय करने के लिए एक ट्राइब्यूनल बनाने का फैसला किया है. सरकार का कहना है कि प्लाचीमाड़ा में कोका कोला के प्लांट से पर्यावरण, खेती और लोगों की सेहत को नुकसान हुआ है.

default

केरल सरकार ने यह फैसला एक उच्चस्तरीय कमेटी की जांच रिपोर्ट सामने आने के बाद किया है. केरल के मुख्यमंत्री वीएस अच्युतानंदन ने बताया कि कमेटी की रिपोर्ट में करीब 216 करोड़ रुपये के नुकसान की बात कही गई है. मुख्यमंत्री ने बताया कि कानून विभाग को ट्राइब्यूनल का गठन करने के लिए काम शुरू करने को कह दिया गया है.

Coca Cola

हालांकि कोका कोला कंपनी का अभी भी यही कहना है कि जांच रिपोर्ट में जो बातें कही गई हैं वो पहले से तय थीं और उससे जांच के नतीजों को साबित नहीं किया जा सकता. कंपनी यह मानने को तैयार नहीं है कि प्लांट की वजह से प्लाचीमाड़ा और आसपास के इलाके में कोई नुकसान हुआ है. कोका कोला का ये प्लांट केरल के पलक्कड़ ज़िले में है.

स्थानीय लोगों के विरोध के बाद चार साल से यह बंद पड़ा है. सरकार ने तो कोका कोला की बनाई चीजों को राज्य में बेचने पर भी पाबंदी लगा दी थी. बाद में हाईकोर्ट के निर्देश के बाद इस पाबंदी को हटा लिया गया.

जांच कमेटी की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि कंपनी के प्लांट की वजह से प्लाचीमाड़ा में जमीन के नीचे पानी का तल काफी नीचे चला गया. इसके अलावा नवजात बच्चों में कई बीमारियां भी देखने को मिलीं.

रिपोर्ट में इस बात का भी जिक्र है कि प्लाचीमाड़ा के ग्रामीण इलाके में प्लांट लगाने के बाद खेती को काफी नुकसान पहुंचा और चार लाख से ज्यादा खेतों में काम करने वाले मजदूर बेरोजगार हो गए. जांच कमेटी का गठन लोगों का विरोध बढने के बाद किया गया. करीब डेढ़ साल तक छानबीन करने के बाद कमेटी ने अपनी रिपोर्ट तैयार की.

रिपोर्टः एजेंसियां/ एन रंजन

संपादनः एस गौड़

संबंधित सामग्री