1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

वर्ल्ड कप

कॉमनवेल्थ मेहमानों की सेहत की फिक्र

भारत सरकार ने कॉमनवेल्थ खेलों के दौरान भारत आने वालों के लिए स्वास्थ्य से जुड़े निर्देशों की फेहरिस्त जारी की है. निर्देशों में इस दौरान डेंगू और स्वाइन फ्लू को देखते हुए लोगों से पूरी बांह के कपड़े लाने की भी बात है.

default

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय से जारी इन निर्देशों में कहा गया है कि स्वाइन फ्लू का खतरा भारत में ज्यादा नहीं है और ये लगातार घट रहा है. डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि स्वाइन फ्लू की महामारी अब आगे बढ़ चुकी है और उस दौर में पहुंच गई है जहां स्थानीय रूप से इसके पैदा होने और बढऩे का खतरा है. ऐसे में भारतीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने खेलों के दौरान किसी भी व्यक्ति के स्वाइन फ्लू की चपेट में आने पर मुफ्त सलाह, जांच और इलाज देने की तैयारी की है.

Indien Commonwealth Games 2010 Jawaharlal Nehru Stadion

बरसात के कारण बढ़ा बीमारियों का खतरा

सरकार ने कहा है कि किसी को भी अगर इस बीमारी के लक्षण खुद में या किसी और में दिखें तो वो तुरंत एयरपोर्ट या दूसरी जगहों मौजूद डॉक्टर के पास जाए. मंत्रालय ने मेहमानों से खांसने या छींकने के दौरान मुंह ढंकने और भीड़ भरी जगहों पर जाने से बचने की भी सलाह दी है.

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक भारत में पिछले मई से अब तक स्वाइन फ्लू की वजह से 2316 लोगों की मौत हो चुकी है. इस साल अब तक 1 लाख 72 हजार लोगों में स्वाइन फ्लू का टेस्ट किया गया जिसमें करीब 41 हजार 200 लोग इसके पीड़ित पाए गए.

इसी तरह डेंगू के बारे में कहा गया है कि दुनिया की आबादी के 40 फीसदी लोग ऐसे इलाकों में रहते हैं जहां डेंगू के पैदा होने और फैलने का खतरा है. मेहमानों को पूरी बांह के कपड़ों के अलावा मच्छर भगाने वाली क्रीम, तेल, अगरबत्तियां और टिकिया लाने की भी सलाह दी गई है. राजधानी में इस साल अब तक डेंगू के 2100 मामले सामने आ चुके हैं.

लोगों से ये भी कहा गया है कि खेलों के बाद वापस लौटने पर अगले 12 दिनों तक अपने स्वास्थ्य का खास ध्यान रखें और बीमारियों पर नजर भी.

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः महेश झा

DW.COM

WWW-Links